एसडीएम बंगले पर तहसीलदार का कब्जा

dig

सच संवाददाता ॥ दमोह
हटा में मुख्य फोरलेन सड़क पर बने सरकारी बंगलों में एसडीएम के लिए आवंटित आवास पर पिछले डेढ़ महीने से तहसीलदार नियम विरूद्ध कब्जा जमाए हुए हैं। जिले की पटेरा तहसील में पदस्थ तहसीलदार तहसीलदार विनय रिछारिया रिटायर हो गए थे लेकिन शासन द्वारा दो वर्ष की संविदा नियुक्ति मिलने के बाद एसडीएम बंगला पर अवैध कब्जा जमाये बैठे हैं। हटा की मुख्य फोरलेन सड़क को लोग एसडीएम बंगला मार्ग नाम से जानते है । अनुविभागीय अधिकारी के बंगला पर उसकी नेम प्लेट लगी होने के बाद भी किसी भी अधिकारी को उसमें रहने की अनुमति नहीं दी जाती चाहे वह बंगला खाली ही क्यों न पड़ा रहे।


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें