हिंदू-मुस्लिम कपल का पासपोर्ट खारिज करने वाले अफसर का ट्रांसफर

नई दिल्ली। एक हिन्दू-मुस्लिम कपल का पासपोर्ट आवेदन लखनऊ पासपोर्ट ऑफिस में खारिज करने के मामले में कार्रवाई की गई है. शिकायत करने के एक दिन बाद पासपोर्ट अधिकारी का तबादला कर दिया गया है. मोहम्मद अनस सिद्दीकी और उनकी पत्नी तन्वी सेठ ने 2007 में शादी की थी और उन्होंने लखनऊ में पासपोर्ट के लिए आवेदन किया था. तन्वी का आरोप है कि पासपोर्ट ऑफिसर विकास मिश्रा ने उन्हें नाम बदलने को कहा और सिद्दीकी को धर्म बदलने के लिए भी कहा गया। कपल ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को ट्वीट और ईमेल करके शिकायत की थी. कपल ने कहा कि पासपोर्ट ऑफिसर ने उन्हें अपमानित और शर्मिंदा किया. कपल की एक 6 साल की बेटी भी है।
तन्वी ने कहा कि नाम न बदलना उनका पारिवारिक मामला है और इसको लेकर पासपोर्ट अधिकारी उन्हें कुछ नहीं कह सकते. कपल ने 19 जून को पासपोर्ट के लिए आवेदन किया था और 20 जून को पासपोर्ट कार्यालय में अप्वाइंटमेंट लेने के बाद गए थे. अप्वाइंटमेंट के दिन पासपोर्ट ऑफिस में कपल ने इंटरव्यू के दो स्टेज पार कर लिए. लेकिन काउंटर-सी पर उन्हें मुश्किलों का सामना करना पड़ा. तन्वी का काउंटर-सी पर नंबर पहले आया. तन्वी के मुताबिक, विकास मिश्रा नाम के अधिकारी ने जब डॉक्यूमेंट्स में पति का नाम मोहम्मद अनस सिद्दिकी देखा तो वह चिल्लाने लगा. अनस ने कहा- ‘अधिकारी ने तन्वी से कहा कि उसे मुझसे शादी नहीं करनी चाहिए थी. मेरी पत्नी रोने लगी. इसके बाद अधिकारी ने तन्वी को कहा कि वह सभी डॉक्यूमेंट्स में अपना नाम बदलकर आए. ‘ तन्वी ने सुषमा स्वराज को ट्वीट किया- लखनऊ पासपोर्ट ऑफिस में अधिकारी विकास मिश्रा ने मेरे साथ खराब बर्ताव किया, क्योंकि मैंने मुस्लिम से शादी की है और अपना नाम नहीं बदला. वह इतनी तेजी से बात कर रहा था कि आसपास के लोग भी सुन रहे थे. मैं इससे पहले कभी इतनी बुरी तरह परेशान महसूस नहीं की. महिला के मुताबिक, उसने कभी नहीं सोचा था कि पासपोर्ट ऑफिस में ऐसे व्यक्ति काम कर रहे होंगे जो मोरल पुलिसिंग करते हैं. तन्वी ने कहा- ‘अधिकारी ने न सिर्फ मुझे पासपोर्ट नहीं दिया, बल्कि पति का भी पासपोर्ट रोक दिया. यह मेरा खुद का फैसला है कि मैं शादी के बाद कौन सा नाम रखूं.’
तन्वी ने कहा कि पासपोर्ट ऑफिस में एक अन्य अधिकारी ने पति को बताया कि अगर यह केस उनके पास आता है तो कोई दिक्कत नहीं होती, क्योंकि सभी डॉक्यूमेंट मौजूद थे. महिला ने यह भी कहा कि शादी के पिछले 12 साल में उन्हें कभी इतना अपमानित महसूस नहीं करना पड़ा.


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें