प्रदेश में चुन्नी की जगह छात्राएं पहनेंगी जैकेट

उमा प्रजापति ॥ भोपाल
मध्य प्रदेश के सरकार स्कूलों में पढऩे वाले छात्र-छात्राएं अब नए कलेवर में नजर आएंगे। इसके लिए यूनिफार्म के कलर और डिजाइन में बदलाव किया जा रहा है। कक्षा 9 से 12वीं तक की छात्राओं के लिए चुन्नी की जगह जैकिट एवं कक्षा 1 से 8 वीं तक की छात्राओं के लिए ट्यूनिंग, शर्ट के साथ अब लैगी भी रहेगी। छात्रों की यूनिफार्म के कलर में बदलाव किया जाएगा। राज्य शिक्षा केंद्र ने शासन प्रस्ताव भेजा है, जिस पर जल्द ही निर्णय किया जाएगा।
सूत्रों के अनुसार स्कूलों की यूनिफार्म की क्वालिटी अच्छी हो इसके लिए राशि भी 400 रुपए से बढ़ाकर 6 00 रुपए कर दी गई है। शासन से मंजूरी मिलने के बाद यूनिफार्म की सिलाई का काम शुरू कर दिया जाएगा। यूनिफार्म की सिलाई की जिम्मेदारी समाज कल्याण न्याय विभाग को दी गई है। विभाग को यह स्वयं सेवी संस्थानों माध्यम से कराएगा। स्कूल शिक्षा मंत्री विजय शाह के निर्देश अनुसार छात्र-छात्राओं की यूनिफार्म की सिलाई का काम विधवा एवं असहाय महिलाओं से कराया जाना है।
अभी पुरानी यूनिफार्म से चलाना होगा काम: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पिछले वर्ष सरकारी स्कूलों (शेष पेज 13 पर)
प्रदेश में चुन्नी की जगह…
में पढऩे वाले छात्र-छात्राओं के लिए चैक की जगह सिली हुई यूनिफार्म देने की घोषणा की थी। सीएम की घोषणा के बाद स्कूल शिक्षा मंत्री कुंवर विजय शाह ने बच्चों की यूनिफार्म की सिलाई का काम विधावा और असहाय महिलाओं के माध्यम से कराए जाने के निर्देश शिक्षा विभाग के अधिकारियों के दिए थे, लेकिन अधिकारियों के सुस्त रवैये के चलते यह काम अब भी पूरा नहीं हो सका है ऐसे में छात्राओं को फिलहाल पुरानी यूनिफार्म से ही काम चलाना होगा।
इसलिए किया बदलाब
2010 तक छात्र-छात्राओं को सिली हुई यूनिफार्म दी जाती थी। इसमें घोटाले के बाद बच्चों को यूनिफार्म की जगह 400 रुपए चैक के माध्यम से देने का फैसला लिया गया। शिकायत मिली की बच्चों को यूनिफार्म के लिए दी जाने वाली राशि को अभिभावक या तो शराब में उड़ा देते हैं या फिर कई लोग घर खर्च में लगा देते हैं और विद्यार्थी पुराने यूनिफार्म में ही स्कूल आते हैं। कुछ बच्चे तो चैक लेने के बाद स्कूल आना ही छोड़ देने हैं। इस कारण एक बार फिर यूनिफार्म देने पर विचार किया गया।


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें