बीजेपी कार्यकर्ताओं ने केंद्रीय मंत्री से की शिकायत, अफसर नहीं सुनते बात

मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव के लिए बनाए जा रहे माहौल के बीच सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता अफसरशाही के रवैए से नाराज हैं.

बीजेपी के कई वरिष्ठ पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं ने केंद्रीय मंत्री के सामने अपनी भड़ास जमकर निकाली.(फाइल फोटो)

नई दिल्ली/शिवपुरी: मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव के लिए बनाए जा रहे माहौल के बीच सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता अफसरशाही के रवैए से नाराज हैं और जनता का काम न करा पाने के कारण उनके बीच जाने का साहस नहीं जुटा पा रहे हैं. यह बात शुक्रवार को केंद्रीय पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर की मौजूदगी में हुई समन्वय बैठक में सामने आई. बीजेपी के कई वरिष्ठ पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं ने केंद्रीय मंत्री के सामने अपनी भड़ास जमकर निकाली. बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष रह चुके नरेंद्र सिंह तोमर शुक्रवार को समन्वय समिति की बैठक लेने पहुंचे. उनके सामने कई नाराज पार्टी नेता व कार्यकर्ताओं ने अपनी सुनवाई न होने व जिले में अफसरशाही हावी होने की बात कही. कई नेताओं ने कहा कि आज भाजपा कार्यकर्ता हताश हैं और उनके ही काम नहीं हो रहे तो, वह जनता के सामने किस मुंह से जाएं.

कार्यकर्ता खुद को ठगा महसूस कर रहे
बैठक में मीसाबंदी हरिहर शर्मा ने कहा कि इस बात का चिंतन होना चाहिए कि हम पिछले कुछ सालों से यह पिछोर विधानसभा क्षेत्र में क्यों हार रहे हैं. बीजेपी में व्यक्तिपरक राजनीति का बोलबाला है. एकजुटता के साथ काम नहीं हो रहा है. उन्होंने कहा कि बीजेपी में खुद्दारों को तवज्जो दी जानी चाहिए न कि गद्दारों को. बैराड़ के रामबाबू मंगल ने कहा कि आज कार्यकर्ताओं के काम नहीं हो रहे हैं. वे ठगा सा महसूस कर रहे हैं. केंद्रीय मंत्री के साथ बैठक में पूर्व विधायक कामता प्रसाद बेमटे, नरेंद्र बिरथरे, जिला मंत्री पृथ्वी सिंह जादौन, दिलीप मुद्गल, महेश आदिवासी सहित कई बीजेपी नेताओं ने अपनी बात कहते हुए बीजेपी सरकार में कार्यकर्ताओं की उपेक्षा का मुद्दा उठाया. बैठक के बाद केंद्रीय मंत्री तोमर ने कहा कि पार्टी कार्यकर्ताओं से समन्वय स्थापित करने के लिए यह बैठक आयोजित की गई थी. पार्टी के कार्यकर्ता हमारे देवदुर्लभ कार्यकर्ता हैं और हमारे परिवार के सदस्य हैं, इसलिए बातचीत करना स्वाभाविक प्रक्रिया है.

कांग्रेस ने कभी नहीं ली किसानों की सुध- केंद्रीय मंत्री
उन्होंने कहा कि बैठक का उद्देश्य था कि आने वाले समय में पार्टी का बूथ स्तर तक का कार्यकर्ता सक्रिय होकर प्रदेश व केंद्र सरकार की नीतियों को आगे बढ़ाएं. अभी हाल ही में केंद्र सरकार द्वारा खरीफ फसलों के समर्थन मूल्य में की गई वृद्धि पर कांग्रेस सांसद कमलनाथ द्वारा दिए गए बयान पर तोमर ने कहा कि कांग्रेस ने अपने शासनकाल में कभी भी किसानों की चिंता नहीं की और अब हमारी सरकार ने किसानों की सुध ली है तो उनके पेट में दर्द हो रहा है. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मोदी सरकार ने समर्थन मूल्य में जो वृद्धि की है, वह किसान हितैषी है और मोदी सरकार ने जो वादा किया था, उसे पूरा किया है. मोदी सरकार के इस कदम से किसानों को उनकी फसल का वाजिब दाम मिलेगा और किसानों की आय बढ़ेगी, जिससे आने वाले समय में देश की आर्थिक तरक्की में भी यह कदम लाभदायक रहेगा.


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें