असिस्टेंट प्रोफेसर बनने सख्त चैकिंग से गुजरे अभ्यर्थी

परीक्षा के बीच 30 मिनट का गेप, बाहर आने की अनुमति नहीं
सच प्रतिनिधि ॥ भोपाल
यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन (यूजीसी) की ओर से ली जाने वाली असिस्टेंट प्रोफेसर पद के लिए राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा (नेट) आज राजधानी सहित देश भर में आयोजित की गई। राजधानी में करीब 8 हजार अभ्यर्थी इस परीक्षा में शामिल हुए।नेट एग्जाम में इस बार बदलाव किया गया है।
फस्ट पेपर के लिए एग्जाम सुबह 9.30 से 10.30 बजे तक हुआ। वहीं सेकेंड पेपर की परीक्षा सुबह 11 से दोपहर एक बजे तक ली गई। दोनों पेपर के बीच अभ्यर्थियों को 30 मिनट का गैप रहा, लेकिन उन्हें परीक्षा केंद्र से बाहर जाने की अनुमति नहीं थी। अभी तक तीन परीक्षाएं होती थी।
सामान्य श्रेणी के अभ्यर्थियों के लिए फस्ट पेपर में 40 फीसदी अंक लाना जरूरी है, तब ही वे क्वालिफाई कर पाएंगे। वहीं एससी-एसटी अभ्यर्थियों के लिए क्वालिफाई करने के लिए पहले पेपर में 35 प्रतिशत अंक लाना जरूरी होगा।
गहन जांच के
बाद मिली इंट्री
परीक्षा केंद्र के मुख्य द्वार पर अभ्यर्थियों की गहन जांच की गई। इसके बाद ही केंद्र के अंदर जाने की इजाजत मिली। पहले पेपर का समय सुबह 9.30 बजे से था, लेकिन परीक्षा के ढ़ाई घंटे पहले रिपोर्टिंग टाइम रखा गया। अभ्यर्थियों को सुबह 7 बजे परीक्षा केंद्र पहुंचाना था। अभ्यर्थियों को घड़ी ले जाने की भी अनुमति नहीं थी। इसके अलावा मोबाइल, ईयर फोन, कैलकुलेटर, लॉग टेबल समेत किसी भी प्रकार का इलेक्ट्रॉनिक्स डिवाइस को परीक्षा में ले जाने की अनुमति नहीं थी। यूजीसी ने परीक्षा केंद्रों पर दीवार घड़ी लगाने की निर्देश दिए थे।


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें