बारिश में डरा रहे सड़क किनारे लगे पेड़

सच प्रतिनिधि ॥ भोपाल
इस साल देर से आए मानसून अच्छी शुरूआत की है। तेज हवा और बारिश ने शहर का रंग बदल दिया है। रंग बदलते ही जगह-जगह सड़क किनारे पानी जमा होने लगा है। इसके साथ सड़क किनारे लगे पेड़ भी तेज हवा और बारिश के सामने घुटने टेकने को मजबूर है। जो पेड़ गर्मी में राहगीरों के लिए आसरा बनते थे, आज वो तेज हवा एवं बारिश की मार झेलकर गिरने की कगार पर है। कुछ पेड़ नहीं उखड़ रहे, लेकिन उनकी शाखाएं सड़क के बीच लहरा रही है। एमएसीटी से नेहरू नगर जाने के रास्ते में कई पेड़ गिरने की कगार पर खड़े है। यह वजनी एवं पुराने पेड़ हवा एवं बारिश के तेज बहाव का सामना नहीं करते दिख रहे। ऐसे वजनी एवं पुराने पेड़ो को हटाने तथा सड़क पर झूल रहे पेड़ो को हटाने में नगर निगम का उद्यान विभाग समर्थ नहीं दिखाई दे रहा है। नगर निगम में बिना शिकायत के जनता की समस्याओं का समाधन नहीं होते दिख रहा है।
इस सड़क के एक तरफ रिवेरा टाउन तो दूसरी तरफ वैशाली नगर जैसी पोश कॉलोनी स्थित है। हर साल मानसून में इस सड़क पर पेड़ो के गिरने से जाम लग जाता है। शिकायत करने पर रास्ते से पेड़ो को हटाया जाता है। नगर निगम के उद्यान विभाग के अधिकारी पुरशोत्तम तिवारी से बातचीत में बताया कि जल्द ही उन पेड़ो को रास्ते से अलग किया जाएगा। उखडऩे की कगार पर खड़े पेड़ो को काट सड़क से अलग किया जाएगा एवं जिन पेड़ो की शाखाएँ सड़क के ऊपर झूल रही है उनकी भी छटाई कर सड़क के दायरे के बाहर रखा जाएगा।
हर दिन दुर्घटना का डर
मौसम विभाग के अनुसार अगले पाँच दिन तेज बारिश एवं हवा होने की आसार बताएं है। तेज हवा से उखडऩे की कगार पर खड़े पेड़ जिसकी चपेट में आकर सड़क की ओर झुके पेड़ सड़क पर जाम एवं र्दुघटना के कारण बन सकते है।


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें