नाथ और अरुण से मिलकर नए समीकरण बनाएंगे अखिलेश

मुख्य प्रङ्क्षतनिधि ॥ भोपाल
कांग्रेस और बहुजन समाज पार्टी के बीच गठबंधन की अटकलों के बीच समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के भोपाल दौरे ने प्रदेश की राजनीतिक सरगर्मियां बढ़ा दी हैं। अपने दो दिनी दौरे के पहले दिन जहां कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष व सांसद कमलनाथ से मुलाकात करेंगे। वहीं दूसरे दिन पार्टी की गतिविधियों के बीच अखिलेश और पूर्व कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष अरुण यादव की मुलाकात भी दोनों दलों में राजनीतिक गतिविधियों की दिशा बदल सकते हैं। वहीं अन्य विपक्षी दलों के नेताओं से भी अखिलेश इस दौरान मुलाकात करेंगे।
सपा प्रमुख अखिलेश यादव कल सुबह भोपाल आ रहे हैं। मगर उनके इस दौरे ने सपा की गतिवधियों को छोड़ कांग्रेस में सरगर्मियां बढ़ा दी हैं। इस समय जबकि कांग्रेस और बसपा के बीच गठबंधन को लेकर चर्चा के दौरे चल रहे हैं। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और सोनिया गां्रधी प्रदेशाध्यक्ष कमलनाथ और बसपा प्रमुख मायावती के बीच भी गठबंधन को लेकर चर्चा हो चुकी है। ऐसे में अब सपा प्रमुख यादव और पीसीसी चीफ नाथ के बीच कल शाम होने वाली चर्चा प्रदेश में नए समीकरण बना सकती है। हालांकि प्रदेश की विधानसभा में सपा की ताकत खत्म हो चुकी है। मगर उत्तरप्रदेश से सटे बुंदेलखंड के अलावा ग्वालियर-चंबल क्षेत्र में भी सपा के उम्मीदवार उठापटक करते रहे हैं। सपा प्रमुख कल शाम पीसीसी चीफ के घर पहुंचकर मुलाकात करेंगे।
अरुण के घर भी जाएंगे अखिलेश
वहीं प्रदेश कांग्रेस के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अरुण यादव से भी सपा प्रमुख मुलाकात करेंगे। वे 20 जुलाई को सुबह दस बजे अरुण यादव के 74 बंगला स्थित निवास पर पहुंचेंगे। पूर्व केंद्रीय राज्यमंत्री यादव का कहना है कि यह केवल सौजन्य भेंट है। इसका यादव महासभा या राजनीति से कोई लेना-देना नहीं है।
राहुल ने बढ़ाया अरुण का कद
चुनावी गतिविधियों के बीच कांग्रेस हाईकमान ने अरुण यादव की जगह कमलनाथ को प्रदेश संगठन की कमान सौंपी थी। मगर कल बनाई गई सीडब्लूसी में कमलनाथ, दिग्विजय ङ्क्षसह जैसे दिग्गजों की बाहर कर अरुण को विशेष आमंत्रित सदस्य बनाया है। इससे एक बार फिर प्रदेश की राजनीति में अरुण के कद में इजाफा हुआ है। सीडब्लूसी में राहुल गांधी ने प्रदेश से अरुण यादव के अलावा सांसद ज्योतिरादित्य ङ्क्षसधिया को स्थायी आमंत्रित सदस्य रखा है। दिग्गजोंं को बाहर करने से प्रदेश कांग्रेस की अंदरूनी राजनीति में अचानक सक्रियता बढ़ गई है।
नाथ ने शुरू की पोल-खोलो यात्रा
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की जनआशीर्वाद यात्रा के विरोध में कांग्रेस ने आज से पोल खोलो जनजागरण अभियान उज्जैन के तराना विधानसभा क्षेत्र से शुरू हो गया। कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कमलनाथ ने इस अभियान को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस मौके पर प्रदेश के प्रभारी महासचिव दीपक बावरिया, सचिव संजय कपूर, जुबेर खान सहित बड़ी संख्या में पदाधिकारी तराना पहुंचे हैं। इस यात्रा का नेतृत्व पार्अी के कार्यकारी अध्यक्ष जीतू पटवारी करेंगे। पहले चरण में यह यात्रा उज्जैन, रतलाम और धार जिले का दौरा करेगी। मीडिया प्रभारी मानक अग्रवाल ने बताया कि जहां-जहां मुख्यमंत्री की जन आशीर्वाद यात्रा जाएगी, वहां-वहां कांग्रेस की पोल-खोलो यात्रा पहुंचेगी। इसमें सरकार की नीतियों, योजनाओं और कार्यक्रमों में घोटालों व भ्रष्टाचार की पोल खोली जाएगी।
एमपी में छोटे दलों के साथ
मिलकर चुनाव लड़ेगी सपा
भोपाल । समाजवादी पार्टी आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर तैयारियों में जुट गई है। पार्टी प्रदेश में छोटे दलों के साथ मिलकर चुनाव लड़ सकती है। एमपी के दो दिवसीय दौरे पर कल सुबह 11 बजे पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव भोपाल आ रहे है। वे प्रदेश संगठन के चुनावी रोडमैप को तैयार कर अंतिम रूप देंगे। राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के बाद पहली बार भोपाल आ रहे यादव के स्वागत की तैयारियां जोरों पर की जा रही है। जानकारी के अनुसार वह 19 एवं 20 जुलाई को भोपाल की होटल नूर उस सबाह में संगठन पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं से मुलाकात करेंगे। यहां कार्यकर्ताओं को चुनावी टिप्स देकर चुनावी रणनीति बनाएंगे। मध्यप्रदेश मेें होने वाले विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी प्रत्याशियों के नामों का ऐलान समय पूर्व कर सकती है। पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव प्रदेश के नेताओं से संगठन की स्थिति पर चर्चा करेंगे। ज्ञात हो कि सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने लखनऊ पार्टी मुख्यालय में मध्यप्रदेश के पार्टी पदाधिकारियों, प्रभारियों तथा प्रमुख कार्यकर्ताओं की बैठक पूर्व में ली थी, अब वह भोपाल आकर आगामी कार्ययोजना को अंतिम रूप देंगे।
एमपी के मुद्दों पर होगा फोकस
मध्यप्रदेश में समाजवादी पार्टी द्वारा चुनाव को लेकर प्रदेश के ज्वंलत मुद्दों पर फोकस करेगी। किसानों की स्थिति, युवाओं को रोजगार, प्रदेश की बदहाल स्वास्थ्य, उद्योगों की बिगड़ती स्थिति, भ्रष्ट्रचार जैसे मामले पर मंथन करने के बाद के चुनावी घोषणा पत्र तैयार करेगी।


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें