राजनीतिक संरक्षण में अवैध खनन छापामार कार्रवाई में 100 डंपर जब्त

सच संवाददाता॥ बड़वानी
प्रदेश में खनन माफियाओं का हौसले सातवें आसमान पर हैं। लाख बारिश के बावजूद नदियों से खनन रुकने का नाम नहीं ले रहा है। ऐसे में कलेक्टर के नेतृत्व में राजस्व विभाग और खनिज विभाग ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए सौ से ज्यादा रेत से भरे डंपर जब्त किए।जानकारी के मुताबिक बड़वानी कलेक्टर अमित तौमर के नेतृत्व में ये कार्रवाई की गई। जहां खनिज विभाग और राजस्व विभाग ने सहयोग दिया। कार्रवाई के दौरान नर्मदा पट्टी में संग्रहित अवैध बालू रेत के करीब सौ से ज्यादा डंपर जब्त किए गए। बड़वानी कलेक्टर ने बालू रेत के अवैध संग्रहण पर अचानक दल बल के साथ पहुंचकर छापामार कार्रवाई कर डाली।इस कार्रवाई में राजस्व, खनिज व् पुलिस विभाग की टीम ने संयुक्त रूप से भाग लिया। छापा मार दल जब ग्राम कल्याणपुरा में पहुंचा तो वहां पाया कि जगह-जगह रेत का अवैध रूप से संग्रहण किया गया था। एसडीएम बड़वानी ने जब्त कर दस डम्पर और तीन जेसीबी की मदद से परिवहन कर कलेक्टर कार्यालय परिसर बड़वानी में लाकर जमा किया। कोई भी व्यक्ति रेत के मालिकाना हक जताने के लिए सामने नहीं आया। गौरतलब है की पिछले कई सालो से बालू रेत के उत्खनन और परिवहन प्रतिबंधित किया गया है। विशेष रूप से बड़वानी जिले मे नर्मदा किनारे से बालू रेत के उत्खनन और परिवहन पर सख्त प्रतिबन्ध लगा है बावजूद इसके रेत का अवैध गोरखधंधा जोरों पर जारी है।
हालांकि नियमों मे संशोधन के बाद अब बालू रेत के अवैध धंधे में प्रयुक्त वाहनों को जब्त किए जाने के निर्देश जारी किए जा चुके हैं। इन आदेशों के बाद प्रशासन स्तर पर कुछ ट्रेक्टर जब्त की कार्रवाई हो चुकी है।वहीं स्थानीय़ लोगों का कहना है कि यह सब गोरख धंधा पुलिस प्रशासन की जानकारी में ही चल रहा होता है। जब ऊफर से कोई दबाव पड़ता है या सख्त आदेश आते हैं तो थोड़ी पकड़ धकड़ दिखा दी जाती है। उसके बाद भी यह खेल चालू रहता है।


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें