ईपीएफ प्रदर्शन में आज शामिल होंगे मप्र के पेंशनर्स

भोपाल। ईपीएफ से संबंधित लंबित मांगों को लेकर आज दिल्ली में संसद मार्ग पर होने वाले प्रदर्शन में मध्यप्रदेश से हजारों पेंशनर्स शामिल होंगे। इससे पहले एम्पलाईज पेंशन नेशनल को-आर्डिनेशन कमेटी के आव्हान पर आयोजित इस प्रदर्शन के समर्थन में संगठन की प्रदेश इकाई ने कल पंचानन भवन पर प्रदर्शन किया। राष्ष्ट्रीय उप महासचिव चन्द्रशेखर परसाई ने बताया कि केन्द्र सरकार पिछले 5 वर्षो से कोशियारी कमेटी की रिपोर्ट लागू नहीं कर रही है। कोशियारी कमेटी की रिपोर्ट में न्यूनतम पेंशन रूपये 3000 रुपए एवं प्रचलित दर से महंगाई भत्ते की अनुशंसा की गयी है। यह रिपोर्ट 3 सितंबर 2013 से राज्यसभा में लंबित है। 23 मार्च 2017 के आदेश के अनुसार हायर पेंशन का लाभ सभी वर्गो को नहीं दिया जा रहा है।1 सिंतबर 2014 के बाद सेवानिवृत्त कर्मचारियों को हायर पेंशन से वंचित कर दिया गया है। इसी प्रकार ईपीएफओ ने भेदभाव करते हुए एग्जमटेड (छूट प्राप्त) संस्थानों के कर्मचारियों को 31 मई 2017 के आदेश से हायर पेंशन के लाभ से वंचित कर दिया गया है। संगठन शासकीय कर्मचारियों की भांति ईपीएफ के पेंशनभोगियों को मेडिकल सुविधाओं की मांग भी करता है।
संगठन ने न्यूनतम पेंशन रूपये 9000 रुपए एवं प्रचलित दर से महंगाई भत्ते की मांग रखी है।


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें