पहली कलेक्टरी से ही सुर्खियों में आईं सूफिया को भोपाल बुलाया

प्रशासनिक संवाददाता ॥ भोपाल
अपनी पहली कलेक्टरी के दौरान ही सुर्खियों में आईं वर्ष 2009 बैच की आईएएस अधिकारी सूफिया फारूकी वली को राज्य सरकार ने वापस भोपाल बुला लिया है। कल शाम हुए आईएएस अधिकारियों के तबादलों में उनसे मंडला की कलेक्टरी लेकर राज्य नागरिक आपूर्ति निगम का एमडी बनाया गया है। करीब दो सवा कलेक्टरी करने वाली सूफिया कलेक्टर बनते ही विवादों से घिर गईं थीं। इसके बाद वे लगातार सुर्खियों में रहीं।
सूफिया सबसे पहले इसी साल जनवरी में तब सुर्खियों में आईं जब उन्होंने राज्य सरकार की एकात्म यात्रा के दौरान मंडला में शंकराचार्य की चरण पादुका को सिर पर उठाया। उस समय उनकी आलोचना भी हुई और मुस्लिम समाज के कई संगठनों ने इस पर आपत्ति भी जताई थी। इस मामले के बाद कुछ लोग जहां इसके लिए उनकी तारीफ कर रहे हैं तो वही तमाम ऐसे भी है जिनको इसमे घोर आपत्ति नजर आती है। तब सूफिया ने कहा था कि सही मायने में यही सर्वधर्म समभाव है। जो किया किया उसमें कुछ भी गलत नहीं है। साथ ही उनका कहना था कि यह एक सरकारी कार्यक्र म था, जिसकी आगवानी उनको करनी थी। सूफिया फारुकी का कहना था कि वो सभी धर्मों के कार्यक्रमों में शिरकत करती हैं। वे दूसरी बार विवादों इसी साल अप्रैल में आईं। मंडला जिले में मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत हुए सामूहिक विवाद सम्मेलन में एक आदिवासी लड़की की शादी मुस्लिम लड़के से होने के बाद वे चौतरफा विवादों से घिर गईं थीं। इस सम्मेलन में एक हजार से अधिक जोड़ों का विवाह हुआ था। उन पर आरोप था कि जिले के रामनगर में मुख्यमंत्री कन्यादान योजना में आंकड़े बढ़ाने के लिए जिला प्रशासन द्वारा अपात्र जोड़ों की शादी रचा दी गई। इसी के चलते हैरत की बात तो यह है कि मुख्यमंत्री के इस महत्वकांक्षी योजना में जब एक आदिवासी युवती का निकाह मुस्लिम युवक से करवाया। तब यह भी कहा गया कि कि युवती के परिजन निकाह के लिये राजी नहीं थे इसके बावजूद प्रशासन ने इस जोड़े की शादी करवा दी।
इस कार्यक्रम में केंद्रीय राज्य मंत्री सुदर्शन भगत, मंडला सांसद फग्गन सिंह कुलस्ते,राज्यसभा सांसद संपतिया उइके जिले की कलेक्टर सूफिया फारुकी सहित प्रशासनिक अधिकारीयों की मौजूदगी में रस्मों रिवाज के साथ निकाह संपन्न करवाया गया। हालांकि उनके इस तबादले के पीछे बताया जा रहा है कि सूफिया की इच्छा पर ही उन्हें भोपाल स्थानांतरित किया गया है। उन्होंने पारिवारिक कारणों से भोपाल में पदस्थापना का आग्रह राज्य सरकार से किया था।
सूची में दूसरे चर्चित अफसर परमार
कल जारी हुई तबादला सूची में दूसरे चर्चित आईएएस अफसर नरेन्द्र परमार का नाम भी शामिल है। वे अब तक चिकित्सा शिक्षा विभाग में अपर सचिव थे। उन्हें खनिज साधन विभाग के अपर सचिव के साथ-साथ राज्य खनिज विकास निगम का कार्यपालक निदेशक (ईडी) बनाया गया है। परमार तब सुर्खियों में आए थे जब उन्होंने बर्खास्त आईएएस अधिकारी दंपत्ति अरविंद जोशी और टीनू जोशी की भू-अधिकार पुस्तिका की डुप्लीकेट कॉपी देने में देरी होने पर नायब तहसीलदार को नोटिस दे दिया था, जबकि उस समय मामला आयकर विभाग की जांच के दायरे में था। उसके बाद नायब तहसीलदार ने आयकर विभा से एनओसी मांगी थी। इस घटना के बाद परमार को मंत्रालय अटैच कर दिया गया था।
दाहिमा को फिर मिला कमजोर विभाग
राज्य प्रशासनिक सेवा से भारतीय प्रशासनिक सेवा में पदोन्नति के लिए कोर्टतक लड़ाई वाले वर्ष 2008 बैच के प्रमोटी आईएएस ललित दाहिमा को एक बार फिर लूपलाइन में डाला गया है। कल हुए तबादलों में एमएसएमई विभाग का उप सचिव बनाया गया है। अब तक वे जेल विभाग के उप सचिव थे। इससे पहले वे उच्च शिक्षा विभाग के उप सचिव रह चुके हैं। सूत्रों के अनुसार लंबे समय से अच्छी पदस्थापना की आस लगाए बैठे दाहिमा को सरकार ने कोर्टके आदेश पर जैसे-तैसे आईएएस पर प्रमोट तो कर दिया लेकिन उनसे सरकार की नाराजगी अब तक दूर नहीं हुई है। यही कारण है कि तमाम प्रयासों के बाद भी उन्हें एमएसएमई जैसे छोटे विभाग में उपसचिव बनाया गया है।
इनके भी हुए तबादले
करीब तीन महीने स्वास्थ्य विभाग में उप सचिव बना गए जीतेन्द्र सिंह राजे को एप्को का कार्यपालक संचालक बनाया गया है। जनसंपर्क आयुक्त पी. नरहरि अब इस प्रभार से मुक्त हो गए हैं। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के संचालक एस. विश्वनाथन को हरदा जिले की कलेक्टरी दी गई है, जबकि यहां कलेक्टरी कर रहे अनय द्विवेदी को सूफिया फारूकी जगह मंडला भेजा गया है। मंत्रालय में सामान्य प्रशासन विभाग में उप सचिव ऊषा परमार को वन विभाग का उप सचिव बनाया गया है। खनिज निगम के ईडी राहुल हरिदास को जबलपुर में अपर आयुक्त पदस्थ किया गया है।


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें