शिव-राज ॥ संबल योजना में 50 फीसदी मजदूर फर्जी

Bhopal: Madhya Pradesh Chief Minister Shivraj Singh Chouhan speaking at the Confederation of Real Estate Developers' Associations of India's MP Conference-2017, in Bhopal on Friday. PTI Photo(PTI3_24_2017_000102B)

सच संवाददाता ॥ सतना
जानकारी के अनुसार संबल योजना में इतनी बड़ी संख्या में फर्जीवाड़ा बिलजी बिल में छूट और पिछला बिल का बकाया माफ करवाने के लिए किया जा रहा है।सतना में इस योजना का लाभ लेने के लिए करोड़पति लोग भी मजदूर बन गए हैं। मामले का खुलासा होते ही नगर निगम कमिश्नर ने पूरी सूची की जांच के लिए चार सदस्यीय टीम बनाई है और वर्तमान योजना प्रभारी को हटा दिया गया है। सतना में ऑटोमोबाइल फर्म संचालक हो या पेट्रोल पंप मालिक, नेता जी हो या पार्षद। ऐसे लोगों की फेहरिस्त बड़ी लंबी है जो करोड़ों का व्यापार होने के बाद भी बेशर्मी से अपना नाम मजजूरों के फायदे के लिए बनी संबल योजना में पंजीकृत करवा रहे हैं।इन रसूखदारों का मजदूरी से दूर-दूर तक कोई वास्ता नहीं है, लेकिन इसके बावजूद भी नगर निगम के अधिकारियों से सांठ गांठ कर ये मजदूर बन बैठे हैं। अगर मामले की जांच की जाती है तो करीब 50 फीसदी फर्जी मजदूर बेनकाब हो जाएंगे, जबकि असली मजदूर इस सूची से गायब है। मामले को तूल पकड़ता देख सतना नगर निगम कमिश्नर ने आनन फानन में वर्तमान सहायक आयुक्त नीलम तिवारी को योजना शाखा के प्रभार से हटा दिया है साथ ही चार सदस्यीद जांच दल का भी गठन कर दिया है।


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें