खुद को सीएम का दावेदार बताने पर भड़के दिग्विजय

विशेष संवाददाता ॥ भोपाल
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के दौरे के दौरान पोस्टर और कटआउट में गायब होने के बाद मंच पर भी गुमसुम से दिखे पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह खुद को मुख्यमंत्री कैंडिडेट प्रोजेक्ट किए जाने को लेकर खासे नाराज हैं। प्रदेश कांग्रेस समन्वय समिति के अध्यक्ष ने साफ किया है कि जो लोग दिग्विजय फॉर सीएम कैंपेन चला रहे हैं वे उनके शुभचिंतक नहीं हो सकते। उधर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने कटआउट नहीं लगने को लेकर दिग्विजय सिंह से माफी मांगी है।
दिग्विजय सिंह ने आज सुबह एक ट्वीट कर उन्हें मुख्यमंत्री उम्मीदवार घोषित करने के लिए चलाए जा रहे कैंपेन पर असहमति जताई है। उन्होंने कहा है कि वे लगातार दस साल तक प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे हैं और आज भी अपने उस बयान से पीछे नहीं हटेंगे कि ‘मैं मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार नहीं हूंÓ। मैं वो व्यक्ति नहीं हूं जो कहे कुछ और करे कुछ। दरअसल दिग्विजय सिंह ने अपनी नर्मदा परिक्रमा के बाद ऐलान किया था कि वे मुख्यमंत्री पद की रेस से बाहर हैं और उनकी फिर सीएम बनने की इच्छा नहीं है। उन्होंने ही कमलनाथ का नाम बढ़ाया था। उनके इस बयान के बाद ही पूर्व केंद्रीय मंत्री कमलनाथ को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बनाया गया और ज्योतिरादित्य सिंधिया को चुनाव अभियान समिति का अध्यक्ष। राहुल गांधी के गत दिवस के भोपाल दौरे के दौरान भी पूरे समय कमलनाथ और सिंधिया ही उनके आजू-बाजू में दिखे और राहुल ने बार-बार इन्हीं दोनों नेताओं के नाम लिए। मंच पर होने के बावजूद दिग्विजय सिंह कांग्रेस अध्यक्ष से दूर-दूर रहे। राहुल गांधी के वापस लौटते ही दिग्विजय सिंह को लेकर कयासबाजी तेज हो गई और इसी बीच ट्वीटर पर उनके समर्थन में अभियान चल निकला।


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें