घर खरीदारों के लिए सबसे बड़ी खुशखबरी, यहां जानिए कब मिलेगा आपके फ्लैट का पजेशन

लंबे समय से अपने घर का इंतजार कर रहे लोगों के लिए बड़ी खुशखबरी है. दरअसल, घर खरीदारों की दिवाली को ज्यादा रोशन करने की तैयारी है.

नई दिल्ली (प्रकाश प्रियदर्शी): लंबे समय से अपने घर का इंतजार कर रहे लोगों के लिए बड़ी खुशखबरी है. दरअसल, घर खरीदारों की दिवाली को ज्यादा रोशन करने की तैयारी है. अगले साल दिवाली तक घर खरीदारों को बड़ा तोहफा मिलने जा रहा है. सूत्रों के मुताबिक, सरकारी कंस्ट्रक्शन कंपनी NBCC ने नोएडा, ग्रेटर नोएडा, यमुना एक्सप्रेस-वे के अंडर कंस्ट्रक्शन प्रोजेक्ट के लिए पजेशन प्लान तैयार कर लिया है. जी न्यूज को मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक, इस साल के आखिर तक NBCC फंसे हुए प्रोजेक्ट में काम शुरू करेगी. इन प्रोजेक्ट्स में आम्रपाली, जेपी के अलावा दूसरे प्रोजेक्ट भी शामिल हैं. सबसे पहले आम्रपाली प्रोजेक्ट को पूरा किया जाएगा.

NBCC ने इस तरह तैयार किया प्लान
सूत्रों से मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक, एनबीसीसी सबसे पहले इस आम्रपाली के फंसे हुए प्रोजेक्ट का काम पूरा करेगी. NBCC का लक्ष्य है कि अगली दिवाली तक 4-5 हजार यूनिट को पूरा करके होम बायर्स को हैंडओवर किया जाए. इसके लिए एनबीसीसी ने 6 महीने, 12 महीने, 24 महीने और 36 महीने के हिसाब से रणनीति बनाई है. जिन प्रोजेक्ट में थोड़ा ही काम बचा है उन्हें अगले 6 महीने में पूरा करके घर खरीदारों को सौंपा जाएगा.

15-20 दिन में जारी होंगे टेंडर्स
सूत्रों के मुताबिक, प्रोजेक्ट्स के ज्यादा से ज्यादा घर का काम अगले साल दिवाली तक पूरा करने की योजना है. हालांकि, जिन प्रोजेक्ट्स में अभी तक काम शुरू नहीं हुआ है. उन्हें पूरा करने में 3 साल का वक्त लग सकता है. इसके लिए एनबीसीसी ने अलग से प्लानिंग की है. उम्मीद की जा रही है कि एनबीसीसी इसके लिए अगले 15-20 दिनों में टेंडर जारी करेगी.

तैयार हुआ फंडिंग मॉडल
आम्रपाली प्रोजेक्ट के लिए फंडिंग का मॉडल सुप्रीम कोर्ट की देखरेख में तैयार हो रहा है. जहां तक बाकी प्रोजेक्ट की बात है तो नोएडा-ग्रेटर नोएडा के बाकी फंसे हुए प्रोजेक्ट के लिए नोएडा-ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी ने लिस्ट तैयार की है. सूत्रों के मुताबिक एनबीसीसी इन प्रोजेक्ट को भी इसी मॉडल के तहत पूरा करेगी.

आम्रपाली-JP में घर खरीदने वालों के लिए खुशखबरी! जल्दी मिलेगा पजेशन

दिवाली पर ही क्यों?
एनबीसीसी सूत्रों के मुताबिक, फंसे हुए प्रोजेक्ट की ज्यादातर यूनिट का पजेशन खास मौके पर देने की योजना है. इसलिए दिवाली जैसे खास मौकों का टारगेट रखा गया है. खास मौके पर घर मिलने से होम बायर्स को ज्यादा खुशी होगी. हालांकि, यह जरूरी नहीं है कि हर घर खरीदार को घर दिवाली-होली के आसपास मिले. जैसे ही प्रोजेक्ट तैयार होगा घर खरीदारों को पजेशन के लिए बुलाया जाएगा.

कल तय होगा आम्रपाली का 'भविष्य', सुप्रीम कोर्ट दे चुका है बेघर करने की चेतावनी

कंसलटेंट के तौर पर काम करेगी NBCC
आपको बता दें, कंपनी की जिम्मेदारी मौजूदा प्रोमोटर्स के पास ही रहेगी. कुछ मामलों में यह जिम्मेदारी इन्सॉलवेंसी रेजोल्यूशन प्रोफेशनल (IRP) को भी मिलेगी. एनबीसीसी की भूमिका इस मामले में प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कंसलटेंट की होगी. एनबीसीसी यह सुनिश्च‍ित करेगी कि थर्ड पार्टी कंस्ट्रक्शन कंपनियों को शामिल कर इन्हें पूरा करवाए जाए.

आम्रपाली ने मांगी थी मदद
बता दें कि आम्रपाली ग्रुप ने सुप्रीम कोर्ट को एक प्रस्ताव सौंपा था. इस प्रस्ताव में उसने कहा था कि हमने सरकार को एक प्रपोजल सौंपा है. इसमें हमने अधूरे पड़े प्रोजेक्ट्स को पूरा करने के लिए एनबीसीसी की मदद लेने की बात कही है. इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने 42,000 होमबायर्स को बड़ी राहत देते हुए आम्रपाली ग्रुप के 12 रुके हुए प्रॉजेक्ट्स को छह से 48 महीने में पूरा करने का आदेश दिया था.


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें