हेरासमेंट केसों पर भड़कीं अंकिता लोखंडे, नोट लिखकर बयां किया दर्द

भारतीय फि़ल्म उद्योग में महिलाओं के साथ होने वाले यौन उत्पीडऩ या दुर्व्यहार का मुद्दा तेज़ी से गर्मा रहा है। कास्टिंग काउच के लिए बदनाम रहे बॉलीवुड की स्याह हक़ीक़त अब ख़ुद इसे चलाने वाले खोल रहे हैं। तनुश्री दत्ता-नाना प्रकरण के बाद तो जैसे बाढ़ सी आ गयी है। सालों पुराने मामले भी अब सोशल मीडिया के ज़रिए सिर उठा रहे हैं।
कई सेलेब्रिटीज़ पर आरोपों के घेरे में आ चुके हैं। ऐसे में कुछ सेलेब्रिटीज़ ऐसे भी हैं, जो महिलाओं और बच्चियों के ख़िलाफ़ बढ़ते अपराधों को लेकर चिंतित नजऱ आते हैं। अंकिता लोखंडे ने यौन उत्पीडऩ के बढ़ते केसों पर चिंता ज़ाहिर की है। उन्होंने अपने दर्द और छटपटाहट को इंस्टाग्राम के ज़रिए एक लंबे नोट के ज़ििरए फॉलोअर्स तक पहुंचाया है। अंकिता लिखती हैं कि पहले सुबह उठकर वो अपनी दिनचर्या प्लान करती थीं। अपने घरवालों को विश करती थीं। न्यूज़ पढ़ती थीं। मगर पिछले कुछ अर्से से मैं अख़बार पढऩे या सोशल मीडिया पर जाने से डरने लगी हूं। पिछले कुछ दिन हम सब इंडस्ट्री वालों के लिए एक सबक़ हैं कि आंख और कान बंद करने से सच्चाई नहीं बदल जाएगी। अंकिता ने इस बात पर गुस्सा ज़ाहिर किया कि औरत को यौन उत्पीडऩ का शिकार होने के बावजूद ख़ुद को जस्टिफाई करना पड़ता है। एक के बाद एक लड़की उत्पीडऩ का शिकार होती रहती है। हम इसके विरोध में खड़े होते हैं। बातें करते हैं, न्याय दिलवाने की कोशिश करते हैं। मगर बार-बार यह क्यों हो रहा है? अंकिता ने इस दर्द से गुजऱने वाली सभी महिलाओं के लिए अफ़सोस ज़ाहिर करते हुए गुज़ारिश की है कि आप बोलिए। चुप मत रहिए। हम सब आपके साथ हैं। अगर किसी को शर्मिंदा होना है तो वो आप आदमी है, आपको शर्म करने की ज़रूरत नहीं।
अंकिता ने सभी माता-पिता से गुज़ारिश की है कि बेटी को छोटी स्कर्ट पहनने से रोकने के बजाए, बेटे को समझाइए कि किसी भी हाल में किसी लड़का का उत्पीडऩ ना करे। अंकिता कंगना रनौत की फि़ल्म मणिकर्णिका- द क्वीन ऑफ़ झांसी से बॉलीवुड में डेब्यू कर रही हैं। कंगना ने हाल ही में निर्देशक विकास बहल पर आरोप लगाया है कि क्वीन की मेकिंग के दौरान वो उन्हें ग़लत तरीक़े से टच करते थे और उनके कुछ जेस्चर काफ़ी आपत्तिजनक थे।


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें