मध्य प्रदेशः दमोह में बेखौफ बदमाश ने आदिवासी बच्चे को लगाई आग

मोनू ने पुलिस को दिए अपने बयान में बताया कि घर में किसी अज्ञात तत्व ने इस वारदात को अंजाम दिया है.

प्रतीकात्मक तस्वीर

दमोहः मध्य प्रदेश के दमोह जिले के कुम्हारी थाना क्षेत्र अंतर्गत हिनौती गावं में एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है, जहां बीते शुक्रवार को एक नौ साल के बच्चे को उसके ही घर में केरेसीन डालकर ज़िंदा आग के हवाले कर दिया गया. बच्चे के साथ इस खौफनाक वारदात को किसने अंजाम दिया फिलहाल इसके बारे में कुछ पता नहीं चल सका है. वहीं बच्चे के साथ हुई इस घटना के बाद पूरे गांव में दहशत का माहौल है. ग्रामीणों और बच्चे के परिजनों की मानें तो बच्चे को उस वक्त आग के हवाले किया गया जब वह घर में अकेला था.

मुंबईः इनकम टैक्स ऑफिस में लगी आग, ललित मोदी-नीरव मोदी जुड़े दस्तावेज भी हुए स्वाह!

मिली जानकारी के मुताबिक जिले के कुम्हारी थाना क्षेत्र हिनौती गावं में रहने वाला कडोरी आदिवासी अपने परिवार के साथ गावं में रहकर खेतों में मजदूरी का काम करता था. शुक्रवार की रात जब उसका 9 साल का बेटा मोनू घर में अकेला था, तभी अचानक घर में कोई अज्ञात शख्स घुसा और मोनू के ऊपर केरोसीन डालकर उसे आग के हवाले कर दिया और वहां से भाग गया. आग लगने पर जब मासूम चिल्लाया तो पड़ोस भागते हुए कडोरी के घर पहुंचे और वहां देखा कि मोनू आग में झुलस रहा है. जिसके बाद ग्रामीणों ने बच्चे बचाने की कोशिश की, लेकिन तब तक मोनू बुरी तरह से जल चुका था. इसके बाद लोगों ने बच्चे के पिता को खबर की और पीड़ित मासूम को दमोह के जिला अस्पताल ले गए.

वहीं मोनू ने पुलिस को दिए अपने बयान में बताया कि घर में किसी अज्ञात तत्व ने इस वारदात को अंजाम दिया है. पीड़ित परिवार के मुताबिक उसके परिवार की किसी से कोई दुश्मनी नहीं है ना ही कोई विवाद चल रहा है. ऐसे में वारदात का होना इलाके के लोगों को दहशत में डालने के लिए पर्याप्त है. वहीं बच्चे के बयान के बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें