दो महीने बाद सीएम हाउस में शिफ्ट होंगे कमलनाथ

India's trade minister Kamal Nath speaks to The Associated Press in Hong Kong Tuesday, Dec. 13, 2005. Nath, who is in this Asian financial center to participate in the World Trade Organization's ministerial meeting, said it was unlikely the WTO meeting here would resolve a thorny dispute over agricultural trade, but he didn't see a collapse like the previous ministerial gathering in Cancun, Mexico, two years ago. (AP Photo/Bullit Marquez)

प्रशासनिक संवाददाता, भोपाल
मुख्यमंत्री कमलनाथ फिलहाल करीब दो महीने तक अपने सिविल लाइन स्थिति बंगले में ही रहेंगे। इसके बाद वे मुख्यमंत्री निवास में शिफ्ट होंगे। 17 दिसंबर को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद कमलनाथ दो बार सीएम हाउस का भ्रमण कर चुके हैं। नाथ को इस बंगले में कुछ खामियां नजर आई हैं, जिन्हें वे ठीक करवा रहे हैं। 13 सालों से इस बंगले में रह रहे पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उन्हें बंगले के कुछ हिस्सों का भ्रमण कराया तो एक बार कमलनाथ अधिकारियों और पार्टी नेताओं के साथ बंगले को देखने पहुंचे थे। बताया जा रहा हैकि कमलनाथ इस बंगले की आंतरिक व्यवस्थाएं अपने दिल्ली स्थित बंगले की तरह करना चाहते हंै।
सूत्रों के अनुसार कमलनाथ को फिलहाल मुख्यमंत्री का बंगला पूरी तरह पसंद नहीं आया है, इसलिए वे फिलहाल इसमें शिफ्ट नहीं हो रहे है। नाथ के हिसाब से बंगला तैयार होने में करीब दो महीने का वक्त लगेगा, इसलिए दो महीने के तक सिविल लाइन स्थित उनका बंगला ही अस्थायी तौर पर मुख्यमंत्री निवास रहेगा।
चार दिन पहले नाथ जब सीएम हाउस पहुंचे थे, तब उन्होंने बंगले के पीछे स्थित कार्यक्रम अधिकारी कक्ष, इसके पास बने मंदिर, इसी हिस्से के बाहरी तरफ बने लॉन के साथ-साथ बंगले के अंदर बने कमरों और हॉल को देखा था। नाथ बंगले में एक बड़ा मंदिर चाहते हैं। बताया जा रहा है कि नाथ अपने करीबी सहयोगियों और अधिकारियों के लिए मुख्य बंगले में ही कक्ष चाहते हैं, इसलिए कुछ कक्षों की बैठक व्यवस्था को बदला जा रहा है। बंगले के इंटीरियर को लेकर भी उन्होंने अपनी इच्छा बताई है।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दो दिन पहले सीएम हाउस को खाली किया है। बंगला खाली होने के बाद पीडब्ल्यूडी की टीम ने कल इसका निरीक्षण का रिनोवेशन का प्लान तैयार किया है। एक-दो दिन में रिनोवेशन का काम शुरू होगा।


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें