भाजपा सरकार के हितग्राहियों को साधने में जुटे शिवराज

सच प्रतिनिधि ।। भोपाल
पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज शाम 4 बजे नई विधानसभा के सामने भीम नगर में हितग्राहियों से जनसंवाद करने वाले है। विधानसभा चुनाव में भाजपा को मिली हार के बाद भोपाल में पहली बार पूर्व मुख्यमंत्री किसी सार्वजनिक कार्यक्रम में शामिल होने वाले है। प्रदेश में कांग्रेस सरकार बनने के बाद लगातार एक के बाद एक चार भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या होने और भाजपा सरकार के शासनकाल में शुरू की गई जनकल्याणकारी योजनाओं को लेकर असमंजस की स्थिति को लेकर श्री चौहान कांग्रेस सरकार पर हमलवार हो सकते है।
लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी भाजपा के लिए एक ऐसे मुद्दे की तलाश है, जिसको लेकर लोगों का ध्यान न सिर्फ आकर्षित किया जा सके, बल्कि वोट बैंक में परिवर्तित भी किया जा सके। प्रदेश में कांग्रेस के सत्ता में लौटने के बाद भाजपा शासनकाल में शुरू की गई जनकल्याणकारी योजनाओं को लेकर ऊहापोह की स्थिति है। लोगों को आर्थिक सहायता नहीं मिल रही है तो संबल जैसी योजना का लाभ भी लोगों को नहीं मिल रहा है। भाजपा लोकसभा चुनाव से पहले एक बड़े जनआंदोलन की तैयारी में जुटी है और भोपाल में इसकी शुरूआत आज पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कर रहे है। मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान राज्य में सत्ताधारी पार्टी कांग्रेस पर तीखा वार चुक है। भाजपा नेताओं का कहना है कि पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के कार्यकाल में अनेकों ऐसी योजनाएं है, जिससे लोगों के जीवन में बदलाव आया है और ऐसे में कांग्रेस के सत्ता में लौटने के बाद कल्याणकारी योजनाओं को बंद करने से लोगों को इसका लाभ नहीं मिल पा रहा है। कांग्रेस सरकार को कम से कम ऐसी योजनाओं को बंद नहीं कर चाहिए। भाजपा नेताओंं का कहना है कांग्रेस सरकार के मंत्री ही नहीं समझ पा रहे है कि सरकार का मुखिया कौन है। किसकी सुने और किसकी नहीं। कभी कोई मंत्री कुछ कह देता है तो कभी कोई मंत्री कुछ और बोल देता है। आज जनसंवाद में एक बार फिर कांग्रेस पर जमकर हमला बोल सकते है। इसस पहले श्री चौहान कह चुके है कि विपक्ष ने बदलाव की बात की थी, लेकिन ये कैसा बदलाव हो रहा है। राज्य में हत्याएं हो रही है। पहले इंदौर में, फिर मंदसौर में जहां बीजेपी नेता की हत्या कर दी गई। एक अन्य बीजेपी नेता की बड़वानी में हत्या कर दी गई।
अपराधी निडर होकर घूम रहे हैं। कानून व्यवस्था पूरी तरह से ठप्प पड़ चुकी है। सरकार इसे हल्के में ले रही है। भाजपा नेताओं की हत्या के पीछे एक बड़ी साजिश का पता चलता है। श्री चौहान इस मामले में सीबीआई जांच की मांग कर चुके है। प्रदेश में कांग्रेस सरकार बनने के बाद शिवराज सिंह चौहान कह चुके है कि सामने वाली सेना में सेनापति का पता नहीं, बाराती तैयार हैं, लेकिन घोड़ी पे बैठे कौन इसका कोई ठिकाना नहीं।


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें