मंदिर में नहीं मिलेगी नंदी की प्रतिमा

नासिक शहर में महादेव का एक प्रसिद्ध मंदिर है। पंचवटी इलाके में गोदावरी तट के पास स्थित कपालेश्वर महादेव मंदिर काफी मशहूर है। पुराणों में वर्णन किया गया है कि भगवान शिव ने स्वयं यहां निवास किया था। इस मंदिर की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि यहां नंदी की प्रतिमा नहीं है। नंदी के नहीं होने के बारे में यहां कई तरह की कथाएं प्रचलित हैं। ऐसा भी कहा जाता है कि गोदावरी नदी के रामकुंड में नंदी स्थित है। स्थानीय लोगों के अनुसार पेशवाओं के कार्यकाल में इस मंदिर का जीर्णोद्धार हुआ।
मंदिर की सीढिय़ों से गोदावरी नदी नजर आती है। माना जाता है कि यहां रामकुंड में भगवान राम में अपने पिता दशरथ के श्राद्ध किए थे। इस प्रसिद्ध के सामने गोदावरी नदी के पार प्राचीन सुंदर नारायण मंदिर है। साल में एक बार हरिहर महोत्सव होता है। उस वक्त कपालेश्वर और सुंदर नारायण दोनों भगवानों के मुखौटे गोदावरी नदी पर लाए जाते हैं और दोनों को एक—दूसरे से मिलवाया जाता है।


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें