दिग्विजय को कठिन सीट से ही लडऩा चाहिए चुनाव

मुख्य प्रतिनिधि ॥ भोपाल
कांग्रेस महासचिव एवं सांसद ज्योतिरादित्य ङ्क्षसधिया ने भी मुख्यमंत्री कमलनाथ का समर्थन करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय ङ्क्षसह को प्रदेश की किसी हाईप्रोफाइल और लगातार हार वाली सीट से चुनाव लड़ाने की बात कही है। सिंधिया ने कहाकि पूर्व मुख्यमंत्री श्री सिंह पार्टी के बड़े चेहरे हैं, चुनौतीपूर्ण सीट पर उनकी मौजूदगी का फायदा मिलेगा। साथ ही ङ्क्षसधिया ने कहाकि किसको कहां से लड़ाना है, यह फैसला हाईकमान करता है। आलाकमान जहां से जिसे उचित समझेगा उसे प्रत्याशी घोषित करेगा। अपने संसदीय क्षेत्र गुना-शिवपुरी के दस दिनी दौरे पर रवाना होने के पहले श्री सिंधिया कुछ देर के लिए आज सुबह राजधानी पहुंचे। श्री ङ्क्षसधिया को भी इस बार गुना की बजाय ग्वालियर से चुनाव लड़ाने पर संगठन विचार कर रहा है। इससे जुड़े सवाल पर सिंधिया ने कहाकि मैं कहां से चुनाव लड़ूंगा, यह फैसला भी हाईकमान (शेष पेज 5 पर)
को करना है। पार्टी जहां से कहेगा मैं चुनाव लडऩे तैयार हूं। साथ ही उन्होंने कहाकि गुना-शिवपुरी के मतदाताओं ने मुझे बहुत प्यार दिया, मैं उनका शुकगुजार हूं। सिंधिया ने कहाकि मध्यप्रदेश का विकास हमेशा मेरे राडार पर है। आमजनता के न्याय की लड़ाई वे हमेशा लड़ते रहे हैँ। आगे भी लड़ते रहेंगे।
प्रियंका को एमपी आना चाहिए
सिंधिया ने कांग्रेस महासचिव व यूपी की प्रभारी प्रियंका गांधी को मध्यप्रदेश में भी सक्रियता दिखाने के सवाल पर सिंधिया ने यहां के कार्यकर्ताओं का साथ दिया है। सांसद सिंधिया ने कहाकि प्रियंका गांधी न केवल यूपी, बल्कि पूरे देश की नेता हैं। उन्हेंं कार्यकर्ताओंं की मांग पर मध्यप्रदेश भी आना चाहिए।
उल्टा चोर कोतवाल को डांटे…
चौकीदार चोर है कांग्रेस के नारे को भी ङ्क्षसधिया ने समर्थन देते हुए कहाकि आज तो उल्टा चोर कोतवाल को डांटे वाली स्थिति हो गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हों या भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, दोनों ही घपलों से जुड़े सवालों के जवाब देने से बच रहे हैं। ङ्क्षसधिया ने कहाकि रफाल की कीमत क्यों बढ़ी, बेरोजगारी क्योंं बढ़ रही है, उद्योगपतियोंं को फायदा पहुंचाने के लिए रफाल के सौदे में बदलाव किया गया है। इन आरोपों पर चौकीदार ने कोई जवाब नहीं दिया।


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें