शिव-राज में पिछली गर्मी में 1.60लाख बार हुई थी बिजली गुल

कांग्रेस सरकार में तीन माह में लिये गए 1.44 लाख शटडाउन
भोपाल (मुख्य प्रतिनिधि)। भाजपा भले ही प्रदेश में बिजली संकट को भयावह बताते हुए कांग्रेस सरकार पर निशाना साध रही हो, लेकिन आंकड़े गवाह हैं कि छह महीने पुरानी कमलनाथ सरकार में बिजली के क्षेत्र में उत्पादन और आपूर्ति के साथ शटडाउन की संख्या में भी काफी कमी आई है। पिछली गर्मी में पूर्ववर्ती भाजपा सरकार ने मार्च से मई के बीच कुल 1 लाख 59 हजार 734 बार शटडाउन लिये थे। जबकि इस बार कांग्रेस सरकार में कुल 1 लाख 44 हजार 437 शटडाउन लिए गए हैं। प्रदेश में बिजली संकट को लेकर भाजपा और सतारूढ़ कांग्रेस के बीच जंग की स्थिति बन गई है। विधानसभा के सत्र में भी भाजपा बिजली को लेकर सरकार को घेरने की तैयारी में है। इसी बीच मुख्यमंत्री व कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कमलनाथ के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने प्रदेश में बिजली उत्पादन, सप्लाई, मांग को लेकर आंकड़े जारी किए हैं। इनके आधार पर भाजपा सरकार के अंतिम वर्ष के मार्च से मई माह की तुलना करते हुए इस बार प्रदेश में बिजली की स्थिति बेहतर बताई गई है। इनके मुताबिक वर्ष 2019 में जनवरी से मई की अवधि में 14089 मेगावाट अधिकतम मांग दर्ज की गई, जो पिछले वर्ष की इसी अवधि में दर्ज की गई अधिकतम मांग 12123 मेगावाट से 16.2 फीसदी अधिक है। वहीं वर्ष 2019 में मार्च से मई की अवधि में नियोजित शट डाउन की संख्या 16774 थी, जो पिछले वर्ष इसी अवधि में 29974 थी। इसी प्रकार वर्ष 2019 में मार्च से मई की अवधि में अनियोजित शटडाउन की कुल संख्या 127663 थी जो पिछले वर्ष इसी अवधि में 129760 थी। यह उपलब्धि सुधार प्रक्रिया में लाई गई त्वरित गति और बेहतर उपकरणों के कारण हासिल हुई है।
12.9 फीसदी ज्यादा की सप्लाई
कांग्रेस मीडिया समन्वयक के अनुसार इस दौरान विद्युत सप्लाई की स्थिति में भी सुधार हुआ है। वर्ष 2019 में जनवरी से मई की अवधि में कुल 32987.9 मिलियन यूनिट विद्युत प्रदाय की गई, जो पिछले वर्ष 2018 में इसी अवधि में प्रदाय 29207.57 मिलियन यूनिट से 12.9 फीसदी अधिक रहा।
यह सही है कि अभी बिजली जाने व कटौती की शिकायतें प्रदेश के कुछ हिस्सों से आ रही है लेकिन विद्युत वितरण और सुधार में गुणवत्ता, तत्परता और त्वरित गति लाने के लिए राज्य सरकार कई ठोस कदम उठा रही है। इससे आने वाले माह में विद्युत व्यवस्था में उल्लेखनीय सुधार दिखायी देगा। बिजली को लेकर भाजपा सोशल मीडिया पर राज्य सरकार के खिलाफ दुष्प्रचार कर रही है। मगर वह कभी कामयाब नहीं होगी।
नरेंद्र सलूजा, मीडिया समन्वयक कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें