आकाश की लोकप्रियता ‘कैलाश पर

सच प्रतिनिधि ॥ भोपाल
सुबह से पुलिस की ओर से डायरी पेश न किए जाने के कारण सुनवाई शुरू नहीं हो पाई थी। कोर्ट दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद जमानत पर अपना आदेश सुनाएगी। इस मामले में जमानत पर फैसला न होने की स्थिति में आकाश को शनिवार व रविवार की रात भी इंदौर जेल में ही काटनी पड़ेगी। आज दोपहर तक जमानत पर फैसला हो जाता है तो शाम तक रिलीज वारंट इंदौर जेल पहुंच जाएगा। अगर शाम सात बजे तक रिलीज वारंट इंदौर जेल नहीं पहुंच पाया तो अगले दो दिन आकाश को जेल में काटना पड़ेंगे। भोपाल की स्पेशल कोर्ट अगर आकाश की जमानत याचिका को खारिज कर देती है तो आकाश की ओर से सोमवार को हाईकोर्ट में जमानत की याचिका लगाई जाएगी। इसके पूर्व कल सुबह पूर्व उप महाधिवक्ता पुष्यमित्र भार्गव ने विशेष न्यायधीश सुरेश सिंह के समक्ष जमानत आवेदन पेश किया। पांच मिनट बाद ही कोर्ट ने केस डायरी तलब करते हुए सुनवाई शनिवार के लिए आगे बढ़ा दी थी। विजयवर्गीय द्वारा दो मामलों में जमानत मांगी है। इधर भोपाल में आकाश की जमानत के लिए पूर्व मंत्री व विधायक विश्वास सारंग अपने समर्थकों के साथ सक्रिय हैं। कल भी वे अदालत पहुंचे थे। आज सुबह वे वकीलों के साथ अदालत पहुंच गए थे। आकाश के वकील व समर्थक सुबह से ही डायरी लेकर आने वाली इंदौर पुलिस का इंतजार कर रहे थे।

इंदौर में एक महिला के मकान को टूटने से बचाने के प्रयास में नगर निगम अधिकारी के साथ मारपीट मामले में जेल में बंद विधायक आकाश विजयवर्गीय की लोकप्रियता कैलाश पर्वत जैसी ऊंचाई पर पहुंच गई है। इंदौर में उनका समर्थन बढ़ता जा रहा है तो देश भर में भी चाहने वाले बढ़ गए हैं। इस बीच उनकी जमानत पर आज भोपाल स्पेशल कोर्ट में सुनवाई शुरू हो गई है। सुबह से आकाश के वकील इंदौर से आने वाली केस डायरी का इंतजार कर रहे थे। दोपहर करीब एक बजे इंदौर पुलिस मामले की डायरी लेकर कोर्ट में पहुंची।


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें