World Heart Day: सीने का सामान्य दर्द दिल की गंभीर बीमारी का हो सकता है लक्षण, न करें नजरअंदा

नई दिल्लीः बदलती जीवनशैली और खानपान की आदतों में बदलाव के चलते हार्ट अटैक के मरीजों में तेजी से इजाफा हुआ है, जिनमें ज्यादातर महिलाएं शामिल हैं. सामान्य तौर पर लोग सीने में होने वाले दर्द को बहुत ही हल्के में लेते हैं, लेकिन यह भूल जाते हैं कि यह हार्ट अटैक का लक्षण हो सकता है. हर साल 29 सितंबर को विश्व ह्रदय दिवस (World Heart Day) के रूप में मनाया जाता है. इस दिन को मनाने के पीछे का अहम कारण है, लोगों में दिल संबंधी बीमारियों को लेकर जागरुकता फैलाना और उन्हें बताना कि कैसे दिल का सामान्य दर्द भी लोगों के लिए कितना खतरनाक हो सकता है. तो चलिए, जानते हैं दिल की सेहत से जुड़ी अहम बातें, जो दिल को स्वस्थ रखने में मदद करती हैं.

हाल ही में हुए एक रिसर्च में सामने आया है कि लोग अक्सर ही दिल में होने वाले सामान्य दर्द को नजरअंदाज करते हैं, जिससे लोगों में दिल की सेहत से संबंधित समस्याएं बढ़ रही हैं. बिजी लाइफस्टाइल के चलते अक्सर लोग अस्पताल और चेकअप से कतराते रहते हैं. ऐसे में यह सामान्य दर्द कब बड़ी बीमारी में तब्दील हो जाता है, इसके बारे में उन्हें तब पता चलता है, जब उन्हें हार्ट अटैक या इससे बड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ता है.

रिसर्च में खुलासा हुआ है कि, 42 फीसदी पुरुष अपने हार्ट से संबंधित समस्याएं लेकर अस्पताल पहुंचे हैं तो वहीं महिलाएं इस काम में उनसे काफी पीछे हैं और सिर्फ 30 फीसदी महिलाएं ही सीने में दर्द की शिकायत लेकर अस्पताल जाती हैं. जिसकी वजह से हार्ट अटैक से होने वाली डेथ में पुरुषों के मुकाबले महिलाएं ज्यादा हैं. दरअसल, महिलाओं में दर्द सहने की क्षमता पुरुषों की तुलना में काफी ज्यादा होती है, जिसके चलते महिलाएं अक्सर ही न सिर्फ अपनी चोट बल्कि आंतरिक दर्द को भी आसानी से सह लेती हैं.

हार्ट अटैक के लक्षण
दिल का दौरा पडऩे से पहले चेतावनी के रूप में जो संकेत हैं वे हैं-सीने, कंधे या बाजू में भारीपन या दर्द. इसके अलावा दूसरे लक्षणों में हैं नियमित कामकाज के दौरान सांस फूलना, अचानक जी मिचलाना, कमजोरी या पसीना आना आदि. वहीं डायबिटीज के रोगियों में हार्ट अटैक का लक्षण जल्दी समझ नहीं आता, क्योंकि उन्हें अक्सर ही साइलेंट हार्ट अटैक आता है.

दिल को ऐसे रखें स्वस्थ
तंदुरुस्त दिल के लिये सेहतमंद खाना बेहद जरूरी है. फलों और सब्जियों का अधिक उपयोग करने से दिल की बीमारियों को बढ़ने से रोका जा सकता है. वहीं नियमित तौर पर एक्सरसाइज़ करने से भी दिल की बीमारियों का खतरा कम किया जा सकता है. इससे अन्य स्वास्थ्य समस्याओं से भी बचा जा सकता है. यही नहीं हार्ट अटैक से बचने के लिए रोजाना करीब 7-8 घंटे की नींद बेहद जरूरी है, क्योंकि नींद की कमी से मोटापा, हाई ब्लड प्रेशर, अवसाद और हार्ट अटैक जैसी समस्याएं बढ़ सकती हैं.


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें