IND vs SA: शतक ठोकने के बाद एल्गर ने बताया, मुश्किल हालात में कैसे लगा सके सेंचुरी

विशाखापट्टनम: आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के तहत भारत और दक्षिण अफ्रीका (India vs South Africa) के बीच पहले टेस्ट में सलामी बल्लेबाज डीन एल्गर (Dean Algar) ने अपनी टीम को मुश्किल से उबारते हुए शानदार बल्लेबाजी की. मैच के तीसरे दिन शुक्रवार को शानदार शतक लगाने वाले डीन एल्गर ने माना है कि भारत में खेलना आसान नहीं है. एल्गर ने मुश्किल हालात का सामना करते हुए 287 गेंदों का सामना कर 160 रनों की नायाब पारी खेली.

टीम को संकट से उबारा एल्गर ने
अपने टेस्ट करियर का 57 वां टेस्ट खेल रहे एल्गर ने अपनी इस पारी के दौरान फॉफ दू प्लेसिस (55) और क्विंटन डी कॉक (111) के साथ बहुमूल्य साझेदारियां कर अपनी टीम को न सिर्फ फॉलोऑन से बचाया बल्कि अच्छी स्थिति में भी पहुंचा दिया. तीसरे दिन का खेल खत्म होने के बाद एल्गर ने कहा कि भारतीय हालात में खेलना काफी कठिन है और भारत में अपने पिछले अनुभव के दम पर वह अपनी टीम के लिए मददगार पारी खेलने में सफल रहे.

क्या कहा एल्गर ने
एल्गर के टेस्ट करियर का यह 12वां और भारत के खिलाफ पहला शतक है. एल्गर ने कहा, “टीम के लिए एक बार फिर योगदान देकर अच्छा लगा. भारत में खेलना काफी कठिन है. मैं यहां अंतिम बार खेला था और काफी अनुभवी थी. चार साल में मैं एक खिलाड़ी के तौर पर परिपक्व हुआ हूं. इस दौरान मैंने काउंटी खेली है और इससे मुझे काफी फायदा हुआ है.”

डिकॉक की तारीफ भी की एल्गर ने
एल्गर ने अपनी पारी के दौरान अच्छा साथ देने वाले टी-20 टीम के कप्तान क्विंट डी कॉक (Quinton De Cock) की तारीफ की और कहा, “मैं क्विनी के लिए काफी खुश हूं. वह एक जीनियस हैं. मैं हैरान नहीं हूं कि वह यहां शतक लगाने में सफल रहे. मेरी नजर में यह क्विनी के शानदार करियर की शुरुआत है.” डिकॉक का भी भारत के खिलाफ यह पहला टेस्ट शतक है.

तो फिर मैच में अब क्या
वैसे तो मेहमान टीम ने फॉलोआन बचा लिया है लेकिन वह टीम इंडिया से बढ़ ले पाए ऐसा मुश्किल लग रहा है. टीम के 8 विकेट गिर चुके हैं और टीम को स्कोर 385 रन है यानि अभी टीम भारत से 117 रन पीछे है.


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें