IND vs SA: जिस धाकड़ बल्लेबाज से रोहित की हो रही थी तुलना, उसी ने बांधे तारीफों के पुल

विशाखापट्टनम: टीम इंडिया ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ (India vs South Africa) तीन टेस्ट मैचों की सीरीज के पहले मैच में शानदार जीत दर्ज की. इस मैच में टीम इंडिया को रोहित शर्मा (Rohit Sharma) के रूप में एक बेहतरीन ओपनर मिला है. रोहित ने इस मैच में अपने करियर में पहली बार किसी टेस्ट मैच में ओपनिंग की थी. उन्होंने दोनों पारियों में शतक लगाए. मैच से पहले रोहित की तुलना टीम इंडिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) से हो रही थी. खुद सहवाग ने रोहित की जमकर तारीफ की.

पहली बार टेस्ट में ओपनिंग की रोहित ने
रोहित ने बतौर सलामी बल्लेबाज अपने पहले टेस्ट मैच में 176 और 127 रनों की पारियां खेलीं. सहवाग ने कहा कि यह रोहित के लिए टेस्ट में बतौर सलामी बल्लेबाज स्वर्णिम शुरुआत है. लोकेश राहुल की खेल के लंबे प्रारूप में सलामी बल्लेबाज की असफलता को देखते हुए टीम प्रबंधन ने सीमित ओवरों के नियमित सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा को टेस्ट में पारी की शुरुआत करने का मौका दिया. इसका फायदा रोहित ने दोनों हाथों से उठाया और दक्षिण अफ्रीका के साथ यहां खेले गए पहले टेस्ट मैच में दोनों पारियों में शतक जमा मैन ऑफ द मैच चुने गए.

सहवाग को भी देर से मिली टेस्ट में ओपनिंग
उल्लेखनीय है कि वीरेंद्र सहवाग भी पहले टीम इंडिया के लिए टेस्ट मैचों में ओपनिंग नहीं करते थे. उन्होंने भी 9 टेस्ट मैचों के बाद में ओपनिंग की भूमिका दी गई. रोहित के नाम पहले से ही वनडे में तीन दोहरे शतक हैं और टी20 इंटरनेशनल्स में भी उनके नाम सबसे ज्यादा चार शतक थे. लेकिन रोहित टेस्ट मैच में बहुत सफल नहीं रहे. यह जरूर है कि अपने पहले ही टेस्ट मैच में रोहित ने शतक लगाने की उपलब्धि भी हासिल की, लेकिन पिछले कुछ सालों से रोहित का टेस्ट में अच्छा प्रदर्शन किया.

क्या कहा सहवाग ने
सहवाग ने ट्वीट करते हुए रोहित की तारीफ में लिखा, “रोहित शर्मा के लिए बेहतरीन टेस्ट मैच. एक बतौर सलामी बल्लेबाज के तौर पर यह बेहतरीन शुरुआत है. उन्हें शुभकामनाएं. भारत के लिए यह शानदार जीत जिसमें मयंक, शमी, अश्विन और पुजारा का भी योगदान रहा.”

सहवाग से क्यों हो रही थी तलुना
रोहित भी सहवाग की तरह वनडे में बहुत बड़े हिटर हैं. उनके बारे में कहा जाता है कि अगर वे शुरुआती ओवर में संभलने में सफल रहे तो उन्हें आउट करना विरोधी टीम के लिए आसान नहीं है. उनका रिकॉर्ड बताता है कि अपनी पारी को बहुत बड़ी पारी में बदलने में क्रिकेट में उनका कोई सानी नहीं है. सहवाग की तारीफ रोहित का मनोबल बढ़ाने में बहुत मदद करेगी.


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें