आयुष्मान भारत से जुड़ेंगे डेढ़ लाख हेल्थ सेंटर, 2022 तक हो जाएगी प्रक्रिया पूरी

नई दिल्ली: आयुष्मान भारत योजना को बेहतर बनाने के लिए देशभर के करीब डेढ़ लाख हेल्थ सब सेंटर्स व प्राथमिक चिकित्सा केंद्रो को आयुष्मान भारत हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर्स में बदला जाएगा. यह जानकारी शुक्रवार को केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने दी. केंद्रीय मंत्री चौबे के मुताबकि दिसंबर 2022 तक यह सभी प्रक्रियाएं पूरी कर ली

विस्तारित सेवाओं के अंर्तगत गैर संचारी रोग, मानसिक स्वास्थ्य, आंख, नाक, कान, ओरल केयर, ट्रॉमा केयर, नेत्र विज्ञान, बुढ़ापे संबंधी रोग व पीड़ाहर उपचार भी आयुषमान स्वास्थ्य केंद्रो पर उपलब्ध होगा. फिलहाल अधिकांश आयुष्मान स्वास्थ्य केंद्रों पर प्रजनन, शिशु केयर व संचारी रोगों का उपचार किया जा रहा है.

शेष सुविधाएं आयुष्मान भारत बीमा के तहत बड़े अस्पतालों में प्राप्त की जा सकती हैं. गौरतलब है कि आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (PMJAY) के अंर्तगत 10.74 करोड़ परिवारों को स्वास्थ्य बीमा का लाभ मिल रहा है. इसके तहत बीमा प्राप्त व्यक्ति सालाना 5 लाख तक का उपचार पाने का हकदार है.


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें