बजट 2020: रेल यात्रियों को स्टेशनों में मुफ्त Wi-Fi की मिल सकती है सौगात

आगामी केंद्रीय वित्तीय बजट की तैयारियां जोरो पर है. हाल ही में आम लोगों से बजट पर राय मांगने के बाद ही केंद्रीय वित्त मंत्रालय ने विभिन्न घटकों से बातचीत शुरु कर दी है. इस बीच रेल मंत्रालय से खबर आ रही है कि सरकार रेल यात्रियों सभी स्टेशनों में मुफ्त Wi-Fi की सुविधा का ऐलान कर सकती है. केंद्रीय बजट सत्र के दौरान इसकी घोषणा हो सकती है. बताते चलें कि देश के कुछ चुनिंदा रेलवे स्टेशनों में पिछले कुछ सालों से मुफ्त वाई-फाई की सेवा बहाल है।

केंद्रीय रेल मंत्रालय के सूत्रों ने बताया कि सरकार रेल यात्री सुविधाओं पर गंभीरता से विचार कर रही है. इसी में एक प्रमुख सेवा मुफ्त Wi-Fi भी है. यात्रा के दौरान मुसाफिरों को इटंरनेट से जुड़े रखने के लिए ही इस कदम पर विचार हो रहा है. अधिकारी के मुताबिक देश में ज्यादातर रेलवे स्टेशनों में यात्रियों को बोरियत का सामना करना पड़ता है. ऐसे में सरकार में विचार रखा गया है कि यात्रियों के मनोरंजन पर ध्यान दिया जाए. इंटरनेट की सुविधा यात्रियों के मिलने से स्टेशन में इंतजार करने के दौरान मनोरंजन के लिए संगीत सुनने से लेकर ऑनलाइन फिल्में देखने और अन्य नेट संबंधि सेवाएं उपलब्ध कराई जा सकेगी.

1600 स्टेशनों से शुरू करने का है प्लान
रेलवे एक अन्य वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक शुरुआत में यात्रियों को यह सुविधा 1600 स्टेशनों पर रेलवे के एप के जरिए मिलेगी. रेलवे के इन स्टेशनों पर अभी मुफ्त वाईफाई की सुविधा मौजूद है. विस्तार के तहत अक्तूबर तक 4700 अन्य स्टेशनों पर भी यह सुविधा मुहैया करा दी जाएगी. दरअसल रेलवे एयरलाइन या एयरपोर्ट की तर्ज़ पर एंटरटेनमेंट देने की इस योजना के लिए रेलवे मंत्रालय लंबे समय से कोशिश कर रहा है .

रेलवे को अतिरिक्त रेवेन्यू मिलने की उम्मीद
रेलवे अधिकारियों का कहना है कि रेल में सलाना हजारों यात्री सफर करते हैं. ऐसे में इंटरनेट सेवा के एवज में Advertisment से रेवेन्यू कमाई का जरिया खुल जाता है. इस कमाई को रेलवे सेवा को बेहतर करने में किया जा सकता है. रेलवे इस एप पर विज्ञापन भी चलाएगा, जो कि कमाई का मुख्य आधार होगा . यह विज्ञापन एप के होम पेज और कार्यक्रमों के बीच में चलेंगे.


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें