MP: मंत्री लाखन सिंह बोले, ‘प्रदेश के 10 लाख निराश्रित गौवंशों को नहीं दे पाए समुचित व्यवस्था’

कर्ण मिश्रा/जबलपुर: प्रदेशभर से निराश्रित गौवंश को सड़कों से हटाने के अपने दावे पर पशुपालन मंत्री लाखन सिंह का कहना है कि हम उतने कामयाब नही हो पाए जितना होना चाहिए था. प्रदेश मे निराश्रित घूम रहे 10 लाख गौवंश को व्यवस्थित और समुचित स्थान देने अब अतिरिक्त 3 हज़ार गौशालाओ का निर्माण और किया जाएगा. जबलपुर दो दिवसीय प्रवास पर पहुंचे पशुपालन मंत्री लाखन सिंह ने बसपा विधायक रामबाई पर भी चुटकी ली.

10 लाख से अधिक निराश्रित गौवंश को व्यवस्थित करना सरकार की जिम्मेदारी
प्रदेश के पशुपालन एवं मत्स्य मंत्री लाखन सिंह यादव दो दिवसीय दौरे पर जबलपुर आए हुए हैं. इस दौरान वह वेटरनरी कॉलेज, सांची दुग्ध उत्पादन केंद्र के निरीक्षण सहित पशुपालन विभाग की संभाग स्तरीय समीक्षा बैठक भी लेंगे. वहीं, मीडिया से मुखातिब होते हुए उन्होंने प्रदेश में निराश्रित गौवंश के मौजूदा हालातों पर अपनी नाकामयाबी को स्वीकारा. मंत्री यादव के मुताबिक, निराश्रित गौवंश को समुचित स्थान देने के लिए जो समय सीमा तय की गई थी. उस समय सीमा में निराश्रित गौवंश सड़कों से नहीं हट पाए हैं. उनका प्रयास है कि ऐसे गौवंश को समुचित स्थान दिलाने के लिए 3000 अतिरिक्त गौशालाऐं मंजूर की गई है. सरकार द्वारा कराए गए सर्वे के मुताबिक प्रदेश में 10 लाख से अधिक निराश्रित गोवंश हैं, जिसको व्यवस्थित करना सरकार की जिम्मेदारी है.

सांची की ब्रांडिंग कर खोई हुई छवि पहले जैसे बनाने के कर रहे प्रयास
सांची की गिरती लोकप्रियता पर मंत्री लाखन सिंह ने चिंता जताई. सांची की ब्रांडिंग करने के साथ ही बीते दिनो भोपाल मे उजागर हुए रैकेट का उन्होंने हवाला दिया. भोपाल के सांची दुग्ध उत्पादन केंद्र मे मिलावट खोरों की संलिप्तता ज़िक्र करते हुए कहा कि इस बात के सामने आने के बाद उनके विभाग की ओर से कड़ी कार्यवाही की गई है. सरकार अब प्रभावी कदम उठाने जा रही है ताकि, सांची ब्रांड की छवि पहले जैसी स्थापित हो सके. प्रदेश भर के अंदर गोचर भूमि पर भू माफियाओं द्वारा कब्जा होने की बात की खुद मंत्री ने पुष्टि की. उन्होंने बताया कि प्रदेशभर मे करोड़ों की ज़मीन कब्ज़ेधारियों के हाथ में है. ऐसे कब्जेधारियों को सरकार खदेड़ेगी और उनके खिलाफ एक्शन प्लान बना लिया गया है.

जिसे अपनी पार्टी का समर्थन नही, उसे कांग्रेस का समर्थन नही
बसपा विधायक रामबाई द्वारा सीएए का समर्थन और फिर माफी मांगने के एपिसोड पर मंत्री लाखन सिंह ने चुटकी ली. विधायक रामबाई को अति उत्साहित बताते हुए मंत्री लाखन सिंह ने बताया कि वे हाउस यानी विधानसभा मे भी ऐसा ही रवैया रखती हैं. सीएए को लेकर उनका बयान शायद मीडिया में छाने के लिए दिया गया हो. रामबाई के समर्थन में जब खुद उनकी पार्टी नही है तो, कांग्रेस कैसे हो सकती है.


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें