MP: सीएम कमलनाथ से बोले शिवराज- बापू की 150वीं जयंती पर मत लीजिए विनाशकारी फैसला

भोपाल: कमलनाथ सरकार की ओर से लाई गई नई शराब नीति के खिलाफ पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने मोर्चा खोल दिया है. शिवराज सिंह चौहान सिलसिलेवार ट्वीट कर कमलनाथ सरकार की नई शराब नीति पर जमकर हमाल बोला है. उन्होंने अपने कार्यकाल का हवाला देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री रहते हुए मैंने जनता के कल्याण के लिए प्रदेश में नई शराब की दुकानें नहीं खोलने का फैसला किया. जिसके तथ्य और प्रमाण आपके समक्ष हैं. मेरे लिए प्रदेश का हित सर्वोपरि था, माफियाओं का नहीं.

आदर्श प्रदेश बनाने पर ध्यान देने की नसीहत
शिवराज चौहान ने अपने दूसरे ट्वीट में लिखा कि मुख्यमंत्री कमलनाथ जी कुतर्क देने की बजाय मध्य प्रदेश को आदर्श प्रदेश बनाने पर ध्यान दें. यही प्रदेश और आपके हित में भी है. इतना ही नहीं शिवराज चौहान ने सवाल उठाते हुए ट्वीट किया कि मैं मुख्यमंत्री जी से जानना चाहता हूं कि शराब की उपदुकानों में क्या गन्ने का जूस, दूध, पनीर, मक्खन बिकेगा?

महात्मा गांधी की 150वीं जयंती की दिलाई याद
शिवराज ने एक और ट्वीट करते हुए लिखा, ‘क्या अजीब सरकार है, इसके पास जरूरी चीजों के लिए पैसे नहीं हैं और बाकी चीजों पर पानी की तरह पैसा बहा रही है. सवाल करो तो अनर्गल प्रलाप करने लगती है.’ एक अन्य ट्वीट में शिवराज सिंह चौहान ने कहा, ‘महात्मा गांधी पूर्ण मद्य निषेध के पक्ष में थे. इसलिए प्रदेश के मुख्यमंत्री से मेरा आग्रह है कि बापू की 150वीं जयंती पर यह विनाशकारी फैसला मत लीजिए. प्रदेश के हित में कदम पीछे लीजिए.’


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें