शिकागो और लंदन की तरह मुंबई की नाइट लाइफ भी होगी शानदार, सरकार ने लिया ये बड़ा फैसला

मुंबई: देश की आर्थिक राजधानी कहीं जाने वाली मुंबई अब आपको एक अलग रूप में दिखेगी. जी हां, मुंबई में अब सातों दिन और 24 घंटे आप होटल में खाना खा सकेंगे, और साथ ही साथ मॉल और मल्टीप्लेक्स के भी मजे उठा सकेंगे. बृहन्मुंबई महानगरपालिका ने मल्टीप्लेक्स और होटल को 24 घंटे और 7 दिन खुले रहने की इजाजत दे दी है. राज्य के पर्यटन मंत्री आदित्य ठाकरे की तरफ से कहा गया कि मुंबई में थिएटर, मॉल, और होटल अब हफ्ते के सातों दिन 24 घंटे खुलेंगे. साथ ही साथ उन्होंने यह भी कहा कि इससे रोजगार के अवसर बढ़ेंगे और मुंबई की इकोनॉमिक बढ़ोतरी आएगी.

आपको मालूम हो कि 2017 में इसे लेकर नियम में बदलाव किए गए थे लेकिन अब मुंबई में 24 घंटे होटल मॉल और मल्टीप्लेक्स खोलने का सपना साकार होते हुए दिख रहा है. शुक्रवार को पर्यटन मंत्री के मौजूदगी में यह निर्णय लिया गया की 26 जनवरी से इसे लागू कर दिया जाएगा. शुरुआत में इसे एक ट्रायल बेसिस पर चालू किया जाएगा, बाद में इसकी सफलता को देखते हुए आगे सोच विचार करके इसे हमेशा के लिए लागू कर दिया जाएगा.

बिजनेसमैन भाविन पारीख ने बताया, ‘आदित्य ठाकरे ने जो डिसीजन लिया है वह एक तरीके से अच्छा है और उससे कुछ नेगेटिव बातें भी आएंगी मुझे लगता है इससे का विकास होगा मुंबई का रोजगार बढ़ेगा  यह एक डिसीजन है.’

हाउसवाइफ वैशाली शाह ने इस फैसले पर कहा, ‘ मुझे नहीं लगता कि यह एक सही फैसला है. चौबीसों घंटे मुंबई को खुला रखने से सिक्योरिटी का एक जो बहुत बड़ा विश्व है वह सामने आएगा नाटक बात करने रोजगार की तो हो सकता है कि बेरोजगारी की समस्या कुछ हद तक दूर हो किंतु सेफ्टी एक बहुत बड़ा मुद्दा बन जाएगा जिसको बना पाना मुश्किल है.’

छात्र अक्षत संबद ने कहा,’आदित्य ठाकरे जोया की युवा मंत्री हैं औरंगाबाद के जाने-माने लीडर हैं मेरा मानना है यह फैसला बहुत ही अच्छा है हम रात को घर पर जो कोई काम नहीं रहता तो हम बाहर आ सकते हैं घूमने के लिए और बाहर सारी चीजें उपलब्ध मिलेंगे.’ वहीं एक और छात्र  निरव रुनवाल ने कहा, ‘आदित्य ठाकरे ने जो फैसला लिया है बहुत अच्छा फैसला है इससे हम जैसे युवाओं को रोजगार मिलेगा जो लोग दिन में काम करने के लिए खाली नहीं है जिनका कॉलेज है पुरास में काम कर सकते हैं.’

छात्र सिया चौधरी ने कहा, ‘मुझे लगता है कि यह फैसला ठीक है लेकिन सिक्योरिटी और सेफ्टी को ध्यान में रखना चाहिए जिससे लोग जो दिन में खाली नहीं पाते हैं एंटरटेनमेंट के लिए या एंजॉयमेंट के लिए और हाथ में उस चीज को कर सकते हैं.’


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें