बीजेपी नेता विश्वास सारंग का आरोप, ‘दिग्वि​जय सिंह ने लिखी थी राजगढ़ लाठीचार्ज की स्क्रिप्ट’

राजगढ़: ब्यावरा में नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में निकाली गई रैली पर पुलिस द्वारा किये गए लाठीचार्ज के विरोध में भाजपा नेताओं ने सोमवार को एसपी को ज्ञापन सौंपा और जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की. भाजपा नेताओं ने कहा कि यदि 2 दिन के अंदर दोषियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं हुआ तो पार्टी इसके खिलाफ राज्यव्यापी प्रदर्शन करेगी.

शिवराज सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे विश्वास सारंग ने कहा, ‘जिस तरह से मध्य प्रदेश में कांग्रेस सरकार अधिकारियों के जरिए देशभक्तों, संविधान का सम्मान करने वालों की आवाज दबाना चाहती है, उसका प्रत्यक्ष प्रमाण राजगढ़ की घटना है. यह घटना बहुत ही दर्दनाक और दुर्भाग्यपूर्ण है.’ इस मौके पर भाजपा के प्रदेश महामंत्री बंशीलाल गुर्जर, मऊ विधायक उषा ठाकुर, सांसद रोडमल नागर सहित राजगढ़ जिले के भाजपा नेता और पदाधिकारी उपस्थित रहे.

उन्होंने कहा, ‘ मध्य देश में एक साल पहले कांग्रेस की सरकार आई और उसके बाद से लगातार राज्य में कानून व्यवस्था चरमरा रही है. हद तो तब हो जाती है कि जिस व्यक्ति पर कानून की रक्षा करने और उसका पालन करवाने की जिम्मेदारी है, वही कानून को अपने हाथ में ले. जिला मजिस्ट्रेट, कलेक्टर और एसडीएम के द्वश्य जो हमने देखे वह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है. उन्होंने सीधे-सीधे कानून अपने हाथों में लिया. इन अधिकारियों को किसी को भी थप्पड़ मारने का अधिकार नहीं है.’

विश्वास सारंग ने ब्यावरा में भाजपा कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज के लिए दिग्विजय सिंह को दोषी ठहराया. उन्होंने कहा, ‘इस पूरे प्रकरण में मेरा स्पष्ट आरोप है कांग्रेस सरकार के इशारे पर यह हुआ. राजगढ़ कांग्रेस के एक बड़े नेता का कार्यस्थल है. वह पर्दे के पीछे से राज्य में कांग्रेस की सरकार चला रहे हैं. उनको लगता था कि इस जिले में जो लोग देश प्रेम की बात करते हैं, जो कानून और संविधान की रक्षा की बात करते हैं उनकी आवाज दबा दी जाए.’

भाजपा नेता ने कहा, ‘दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर दोषी अधिकारियों को बचाने का प्रयास किया है. इस बात से यह इंगित होता है कि पूरी घटना की स्क्रिप्ट दिग्विजय सिंह ने ही लिखवाई है. कमलनाथ और दिग्विजय सिंह अधिकारियों के जरिए भारतीय जनता पार्टी और देशभक्तों को दबाना चाहते हैं. वे प्रशासनिक अधिकारियों को ब्लैकमेल करके, अच्छी पोस्टिंग का लालच देकर इस तरह के आंदोलनों को कुचलने की कोशिश कर रहे हैं.’


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें