दिल्ली हिंसा के शुरुआती 2 दिनों में 11 हजार लोगों ने किया था पुलिस को फोन

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस (Delhi Police) में PCR यूनिट के डीसीपी ने गुरुवार को बताया कि हिंसा वाले दिन 24 और 25 फरवरी को सबसे ज्यादा कॉल नॉर्थ ईस्ट जिले से आए थे. जानकारी देते हुए डीसीपी शरद सिन्हा ने बताया कि 23 फरवरी को नॉर्थ-ईस्ट जिले से करीब 700 पीसीआर कॉल आए. दंगे (Delhi Violence) वाले दिन 24 फरवरी को 3500 पीसीआर कॉल आई. वहीं ये आंकड़ा 25 फरवरी को बढ़कर 7500 तक पहुंच गया था. ये सभी कॉल नॉर्थ-ईस्ट जिले से आई थीं.

उन्होंने बताया कि दंगों के अगले दिन 26 फरवरी को भी करीब 1500 लोगों ने पीसीआर को फोन किया था. आपको बता दें कि नागरिकता कानून (CAA) को लेकर दिल्ली के कई इलाकों में लोगों का प्रदर्शन उग्र हो गया था. हजारों की संख्या में लोग सड़कों पर उतरे और पत्थरबाजी और आगजनी की. सबसे ज्यादा हिंसा दिल्ली के नॉर्थ-ईस्ट इलाके में हुई थी.

जिसक बाद कई इलाकों में सुरक्षा के मद्देनजर कर्फ्यू लगाया गया, जबकि प्रदेश के कई जिलों में धारा 144 को एक महीने के लिए लागू किया गया. 24 और 25 फरवरी को हुई हिंसा में दिल्ली पुलिस के एक सिपाही सहित 38 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि हिंसा में घायल होने वाले लोगों का आकड़ा सैकड़ों में है.

येे भी पढ़े:- दिल्ली: हिंसा प्रभावित इलाकों पर MHA की कड़ी नजर, पुलिस ने दी एक-एक जानकारी

दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने भी लोगों से शांति बनाए रखने की अपील करतेे हुए हिंसा में शामिल लोगों के खिलाफ कार्रवाई की बात कही थी. जिसके बाद पुलिस ने हिंसा में शामिल लोगों की पहचान करने के लिए जनता से मदद मांगी. पुलिस ने हिंसा के बारे कोई भी जानकारी साझा करने के लिए दो नंबर भी जारी किए.

दिल्ली पुलिस ने कहा है कि जो भी लोग घटना के गवाह हैं खासतौर से मीडियाकर्मी या अगर किसी के पास घटना की कोई जानकारी है या जिनके पास किसी घटना की फोन या मोबाइल से ली गई रिकॉर्डिंग है तो वह पुलिस से संपर्क करें. जानकारी देने वाले की पहचान गुप्त रखी जाएगी. जानकारी रखने वाला शख्स डीसीपी ऑफिस, उत्तर पूर्वी जिला, सीलमपुर में किसी भी कार्यदिवस पर इस नोटिस के प्रकाशन के सात दिनों के अंदर संपर्क कर सकता है.


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें