ऐम्बुलेंस ना मिलने पर बीमार बुजुर्ग को हाथ ठेले पर ले जा रहे थे परिजन, चेकिंग के दौरान SI ने देखा तो गाड़ी से पहुंचाया अस्पताल

पीताम्बर जोशी/होशंगाबाद: कोरोना संकट की इस घड़ी में कहीं लोगों की मुर्खता के उदाहरण देखने को मिल रहे हैं तो वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं जो मानवता की मिसाल पेश कर रहे हैं. ऐसी ही कुछ तस्वीरें मध्य प्रदेश के होशंगाबाद में पदस्थ एसआई सूरज जमरा की दरियादिली की भी सामने आ रही हैं जहां वह एक बीमार बुजुर्ग को सरकारी गाड़ी में अस्पताल पहुंचाते दिख रहे हैं.

दरअसल होशंगाबाद में एक बीमार बुजुर्ग को एंबुलेंस नहीं मिलने पर परिजन उन्हें ठेले पर इलाज के लिए अस्पताल ले जा रहे थे. इसी दौरान ड्यूटी पर तैनात यातायात विभाग में पदस्थ एसआई सूरज जमरा ने उनकी ये हालत देखी और खुद उन्हें सरकारी वाहन से इलाज के लिएअस्पताल पहुंचाया.

सभी जानते हैं कि देश भर में लॉकडाउन के कारण व वाहनों की आवाजाही पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा हुआ है. ऐसे में होशंगाबाद के बालागंज इलाके में रहने वाले 80 वर्षीय बुजुर्ग की तबीयत खराब होने के बाद उनके बेटी-दामाद किसी तरह उन्हें हाथ ठेले की मदद से जिला अस्पताल लेकर पहुंचे जहां डॉक्टरों ने उन्हें इलाज के लिए निजी अस्पताल रेफर कर दिया.

बताया जा रहा है कि इसके बाद परिजन हाथ ठेले की मदद से बुजुर्ग को इलाज के लिए चिलचिलाती धूप में निजी अस्पताल ले जा रहे थे की तभी ड्यूटी पर वाहनों की चेकिंग कर रहे यातायात एसआई सूरज जमरा ने पहले उनकी समस्या सुनी और फिर उन्होंने ने उनके वाहन से अस्पताल पहुंचाया.

एसआई सूरज जमरा का कहना है कि नौकरी तो एक अलग चीज है लेकिन देशभक्ति और जनसेवा करना ही पुलिस का काम है और यही चीज हमे ट्रेनिंग में भी सिखाई जाती है.


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें