पाकिस्तानी दिग्गज वसीम अकरम के नाम है ये अनूठा रिकॉर्ड, जान कर रह जाएंगे हैरान

नई दिल्ली: जब भी महान तेज गेंदबाजों की बात होगी तो पाकिस्तान के पूर्व कप्तान वसीम अकरम (Wasim Akram) का नाम सबसे ऊपर आएगा. पाकिस्तान के बाएं हाथ के इस गेंदबाज ने सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) से लेकर राहुल द्रविड़ तक, वीरेंद्र सहवाग से लेकर सौरव गांगुली तक भारत के लगभग सभी महान खिलाड़ियों को अपनी गेंदबाजी से परेशान किया है. अगर हम बात करें विश्व के बाकी देशों के बेहतरीन खिलाड़ियों की तो रिकी पोंटिंग से मैथ्यू हेडन तक, ब्रायन लारा से शिवनारायण चंद्रपॉल तक, वसीम ने हर किसी को अपनी बॉलिंग से लाचार, परेशान और मजबूर किया है. वसीम ने अपने करियर के दौरान न सिर्फ बल्लेबाजों को परेशान किया, इसके साथ ही उन्होनें सैकड़ों विकेट भी लिए और कई रिकॉर्ड भी बनाए. आज की इस स्पेशल स्टोरी में हम आपको वसीम के एक ऐसे अनूठे रिकॉर्ड के बारे में बताएंगे जिसको आज तक न कोई तोड़ सका है और आगे भी जिसका तोड़ा जाना लगभग नामुमकिन ही है.

हम जिस रिकॉर्ड की बात कर रहे हैं दरअसल वो रिकॉर्ड है वसीम का टेस्ट और वनडे क्रिकेट में दो-दो हैट्रिक लेने का रिकॉर्ड. आज तक कोई दूसरा खिलाड़ी ऐसा कारनामा नहीं कर सका है क्योंकि क्रिकेट के किसी भी फॉर्मेट में एक भी हैट्रिक लेना बहुत बड़ी बात होती है और यहाँ तो हम दो फॉर्मेट में दो-दो हैट्रिक लेने की बात कर रहे हैं. वसीम अकरम की हैट्रिक्स की शुरूआत साल 1989 में हुई थी जब उन्होनें पहली बार वेस्ट इंडीज के खिलाफ जैफ डुजोन, मैलकम मार्शल और कर्टली एम्ब्रोस के विकेट लगातार 3 गेंदों में चटकाकर इतिहास रच दिया था. संयोग से अकरम ने अपने तीनों शिकारों को भयंकर तरीके से स्विंग होती गेंदों से क्लीन बॉल्ड कर दिया था.

अगले ही साल वसीम ने इस इतिहास को एक बार फिर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शारजाह में दोहराया जहां उन्होनें न सिर्फ अपनी दूसरी वनडे हैट्रिक ली, इसके साथ ही ऑस्ट्रेलिया को हराकर पाकिस्तान को ऑस्ट्रेलेशिया कप का खिताब भी जितवाया. एक बार फिर वसीम ने अपने तीनों विकेट बल्लेबाजों को क्लीन बॉल्ड करके हासिल किए. वसीम की इस हैट्रिक में उनके तीन शिकार थे- मर्व ह्यूज, कार्ल रैकमैन और टैरी एल्डेरमेन जिनको वसीम ने अपनी जबरदस्त गेंदबाजी से ढेर कर दिया था.

वसीम की वनडे हैट्रिक्स के बाद बात आती है उनकी टेस्ट हैट्रिक्स की. अगर वसीम की दोनों वनडे हैट्रिक आश्चर्यजनक और अद्वितीय थीं तो उनकी दोनों टेस्ट हैट्रिक किसी जादू से कम नहीं थी. यहाँ वसीम ने कुछ ऐसा कर दिखाया था जो क्रिकेट में आज तक कोई नहीं कर सका है. दोनों दिशाओं में बॉल को जबरदस्त ढंग से स्विंग कराने के लिए मशहूर वसीम, जिन्हें स्विंग के सुल्तान के नाम से भी जाना जाता है ने श्रीलंका के खिलाफ लगातार 2 टेस्ट मैचों में हैट्रिक लेने का अप्रत्याशित रिकॉर्ड बना डाला था.

उन्होनें पहली टेस्ट हैट्रिक अपने गृह नगर लाहौर में हासिल की थी जब उन्होनें श्रीलंका के रोमेश कालूवितरणा, निरोशन बंदरतिलके, प्रमोदया विक्रमसिंघे के विकेट लेकर अपने घरेलू फैन्स को दीवाना कर दिया था. ये वो दौर था जब वसीम अपनी गति, स्विंग, सही लाइन और लेंथ और गेंद पर अपने नियंत्रण के लिए काफी चर्चित थे और उनको खेल पाना बड़े से बड़े बल्लेबाज के लिए मुश्किल ही नहीं लगभग नामुमकिन सा प्रतीत होता था. वसीम ने अगले ही टेस्ट में एक बार फिर हैट्रिक लेकर ये जता दिया था कि वे उस समय क्रिकेट के सबसे बेहतरीन गेंदबाज थे. इस बार वसीम ने निचले क्रम की जगह श्रीलंका के टॉप ऑर्डर के बल्लेबाजों को टार्गेट किया और अविष्का गुणवर्धने, महेला जयवर्धने और चमिंडा वास को पवेलियन वापस भेजकर एक ऐसा इतिहास रचा जिसकी यादें आज तक क्रिकेट प्रेमियों के दिलों में जिंदा हैं.


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें