Alert! देश में इस नए तरीके से हो रहा साइबर फ्रॉड, आयकर विभाग ने किया सतर्क

नई दिल्ली: इनकम टैक्स विभाग (Income Tax Department) ने लोगों को एक ‘फर्जी’ ई-मेल स्कैम को लेकर सावधान किया है. आयकर विभाग ने आयकरदाताओं को रिफंड का दावा करने वाले किसी भी ई-मेल पर क्लिक न करने को कहा है. विभाग ने सोशल मीडिया पर करदाताओं को सतर्क करते हुए कहा कि वह ऐसे किसी भी लिंक पर क्लिक न करें, जिसमें रिफंड का दावा किया गया हो. आयकर विभाग ने ट्वीट में लिखा- ‘रिफंड का दावा करने वाले संदेश आयकर विभाग की ओर से नहीं भेजे गए हैं. कृपया ऐसे किसी भी लिंक पर क्लिक न करें.’

लोगों को ये ई-मेल भेजा रहा
आयकर रिटर्न भरने वालों को एक फर्जी ई-मेल भेजा जा रहा है. जिसमें लिखा है, ‘कोरोना वायरस महामारी के कारण केंद्र सरकार ने तमाम टैक्सपेयर्स को पहले ही रिटर्न देने का फैसला लिया है, ताकि उन्हें संकट काल में परेशानी का सामना न करना पड़े. अपना रिफंड क्लेम करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें. ‘आपको बता दें कि आयकर विभाग कभी भी ग्राहकों को ई-मेल कर पिन नंबर, पासवर्ड या क्रेडिट कार्ड या बैंक डिटेल्स की जानकारी नहीं मांगता है. विभाग ने लोगों से अपील की है कि ऐसे किसी भी मेल का जवाब न दें.

रिफंड की प्रक्रिया तेज
वित्त मंत्रालय ने 8 अप्रैल को एक बयान में कहा था कि वह कोरोना वायरस की वजह से प्रभावित लोगों और कंपनियों को राहत के लिए आयकर रिफंड की प्रक्रिया में तेजी लाएगा. मंत्रालय के मुताबिक, वह 5 लाख रूपए के लंबित रिफंड में तेजी लाएगा, जिससे करीब 14 लाख टैक्सपेयर्स को लाभ मिलेगा.


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें