बाबुओं की हड़ताल से कामकाज ठप

भोपाल (सप्र)। रमेशचंद्र शर्मा कमेटी की सिफारिशें लागू करवाने की मांग को लेकर तृतीय और चतुर्थ वर्ग कर्मचारियों की हड़ताल के दूसरे दिन भी आज मंत्रालय सहित विभिन्न कार्यालयों में सन्नाटा पसरा रहा। मंत्रालय सहित प्रदेश भर के शासकीय कार्यालयों में दो दिन से कामकाज लगभग ठप होने से लोग परेशान रहे लेकिन सरकार लोककल्याण के दूसरे कार्यों में व्यस्त है। सरकार के रूख से नाराज कर्मचारी अब बड़े आंदोलन की तैयारी कर रहे हैं। इसके प्रदेश भर में कर्मचारी रथ निकाले जाएंगे, सभाएं की जाएंगी और अपने मांगों के लिए जनसमर्थन जुटाया जाएगा। कर्मचारियों ने आज भी मंत्रालय के बाहर नारेबाजी करते हुए अद्र्धनग्न होकर प्रदर्शन किया।
सरकार की कार्यप्रणाली ने बढ़ाया आक्रोश: कर्मचारियों में सरकार की कार्यप्रणाली को लेकर सर्वाधिक आक्रोश है। उनका कहना है कि मुख्यमंत्री घोषणा कर देते हैं लेकिन उस पर समय सीमा में अमल हो रहा है अथवा नहीं संबंधित अधिकारी इस ओर ध्यान नहीं देते हैं। रमेशचंद्र शर्मा कमेटी की रिपोर्ट एक साल से ठंडे बस्ते में पड़ी है, मुख्यमंत्री इस पर शीघ्र निर्णय लेने का भरोसा दे चुके हैं इसके बावजूद कुछ होता नहीं दिख रहा, यही कारण है कि प्रदेश भर के बाबू आक्रोशित हैं।


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें