3 साल में निगम ने जेके रोड के लिए नहीं दिया एक धेला

अनदेखी ॥ अब पार्षद निधि के 60 लाख से बनेगी सड़क
सच प्रतिनिधि ॥ भोपाल
गोविंदपुरा विधानसभा की सबसे चर्चित आदर्श सड़क जेके रोड जो कि दो वार्ड की सीमा को जोड़ती है। इस सड़क को बनाने के लिए वर्तमान नगर निगम परिषद ने 3 साल में एक धेला की राशि आवंटित नहीं की। सड़क की जर्जर हालत को सुधारने के लिए अब 2 साल की पार्षद निधि यहां खर्च की जा रही है। लगभग 60 लाख रुपए की लागत से सड़क का निर्माण किया जाएगा। इस 1400 मीटर चौड़ी सड़क का एक हिस्सा रायसेन रोड से मीनाल कालोनी पहुंच मार्ग वार्ड 65 में आता है जबकि दूसरा छोर मीनाल कालोनी से रायसेन तक वार्ड 66 की सीमा में आता है। वार्ड 66 की पार्षद द्वारा भी सड़क निर्माण में अपनी निधि से कोई राशि उपलब्ध नहीं कराई गई है। वहीं वार्ड 65 में जनता के लिए विकास कार्य जो कि 60 लाख रुपए से होते उस निधि को अब जेके रोड निर्माण में लगाया जा रहा है। जानकारी के अनुसार जेके रोड जो कि कभी आदर्श सड़क कहलाती थी, वह जर्जर स्थिति में दिखाई दे रही है। बरसात के दिनों में यहां बारिश का पानी भरने से वाहन चालकों को आवागमन मेें परेशानी का सामना करना पड़ता है। लगभग 35 हजार से ज्यादा वाहन चालक प्रतिदिन यहां से आना-जाना करते है। वैसे गोविंदपुरा विधानसभा के 8 वार्ड के रहवासी आवागमन में जेके रोड का उपयोग करते है।
भारी ट्रालों की होती है आवाजाही
जेके रोड पर बने बड़े-बड़े कार शोरूम बने है। यहां पर बाहर से आने वाले चार पहिया वाहन भारी ट्रालों में लोड होकर जेके रोड से यहां पहुंचते है। वहीं गोविंदपुरा औद्योगिक क्षेत्र में दिन-भर वाहनों का आवागमन होता है। इस मार्ग का उपयोग इंडस्ट्रीज एरिया में आने वाले भारी वाहन चालक करते है।
30-30 लाख के दो टेंडर
जेके रोड को बनाने के लिए पार्षद निधि लगभग 60 रुपए के टेंडर दो बार में कराने की प्रक्रिया नगर निगम द्वारा की जा रही है। टेंडर खुलते ही यहां निर्माण र्का आरंभ हो सकेगा। वहीं मुख्यमंत्री अधोसंरचना से करीब 20 लाख से अधिक की राशि इस क्षेत्र के लिए आंवटित की गई है। इस मार्ग का कार्य दोनों छोर पर कराया जाएगा।
सीपीए को सड़क देने का प्रस्ताव
नगर निगम वार्ड 65 के जनप्रतिनिधि द्वारा जेके जो कि आदर्श सड़क कहलाती है। इसको संवारने के लिए इसका हस्तांतरण नगर निगम से सीपीए को करने के लिए एक प्रस्ताव निगम अफसरों को दिया गया है। इस प्रस्ताव पर कई महीनेें के बाद भी मुहर नहीं लग पाई है। सड़क को बनाने के लिए कम से कम 7 करोड़ की राशि खर्च होगी।
जनता की सुविधा के लिए नगर निगम द्वारा 3 साल में कोई बजट जेके रोड के लिए नहीं दिया गया। मैंने दो बार की पार्षद निधि देकर निर्माण की पहल की। सीएम अधोसंरचना से बजट मिला है। 2 वार्ड की सीमा में रोड बना है। दूसरे वार्ड की जनप्रतिनिधि द्वारा भी कोई राशि जनहित में नहीं दी गई। सार्वजनिक सड़क का कार्य शीघ्र आरंभ होगा।
> संजय वर्मा, पार्षद वार्ड 65
मेरा वार्ड बहुत बड़ा है। यहां पार्षद निधि ही कम पड़ती है। मैंने जेके रोड के लिए पार्षद निधि से कोई बजट नहीं दिया है। नगर निगम को इस सड़क को पूरी तरह से बनाने के लिए सीपीए को दे देना चाहिए। निगम द्वारा इस सड़क की उपेक्षा की जा रही है। वार्ड में मैंने अलग-अलग निधि से 3 करोड़ के विकास कार्य कराए है।
> लक्ष्मी ठाकुर, पार्षद वार्ड 66


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें