अब दफ्तरों की गंदगी भी बिगाड़ेगी स्टेशन का ग्रेड

रेलवे ने बदले सर्वेक्षण के मानक
सच प्रतिनिधि ॥ भोपाल
रेलवे स्टेशनों के साथ रेलवे के दफ्तरों का भी सर्वेक्षण किया जाएगा। रेलवे के इस फैसले से स्टेशनों का ग्रेड बिगड़ सकता हैं। रेल मंडल के गंदे पड़े दफ्तरों की परख भी रेलवे करने जा रहा है। स्वच्छ रेल स्वच्छ भारत सर्वेक्षण की रिपोर्ट में रेलवे ने तीन मानक तय किए है। रेलवे सर्वेक्षण रिपोर्ट जारी करने से पहले सर्वेक्षण में दो अन्य मानकों को शामिल किया हैं। स्वच्छ रेल स्वच्छ अभियान की रिपोर्ट जुलाई में जारी की जाएगी।
दरअसल, रेलवे ने बीते दो सालों में स्टेशनों पर रेल यात्रियों की फीडबैक व थर्ड पार्टी ऑडिट के अनुसार सर्वेक्षण किया था। क्वालिटी काउंसिल ऑफ इंडिया ने ए-1 श्रेणी में देश के 75 और श्रेणी ए में 332 रेलवे स्टेशनों का सर्वेक्षण किया था। जिसमें सिर्फ स्टेशनों पर साफ-सफाई के आधार पर रिपोर्ट जारी की थी लेकिन 2018 की रिपोर्ट जारी करने से पहले स्टेशनों के साथ ट्रेन और रेलवे आफिसों का निरीक्षण कर रिपोर्ट तैयार की जाएगी। इसके साथ ही यात्रियों और साफ-सफाई कर्मचारियों से भी चर्चा की जाएगी। जिससे यात्रियों द्वारा दिए गए साफ-सफाई का फीडबैक और कर्मचारियों को सफाई के दौरान होने वाली परेशानियों की चर्चा की जाएगी। पश्चिम मध्य रेलवे जबलपुर सीपीआरओ गुंजन गुप्ता ने बताया कि सर्वेक्षण के मानकों में बदलाव किए गए हैं। स्टेशनों के साथ ट्रेनों और रेलवे के दफ्तरों को भी सर्वेक्षण में शामिल किया गया है। ट्रेनों की स्वच्छता के लिए आकलन का निर्धारण यात्रा शुरू होने से पहले शौचालयों की स्थिति, उपकरण और कूड़ेदान, कर्मचारी, कीटनाशक प्रबंधन, पानी की उपलब्धता और अपशिष्ट प्रबंधन से किया जा रहा है। इस समय 210 ट्रेनों में स्वच्छता संबंधी सर्वेक्षण किया जा रहा है। यह कार्य आईआरसीटीसी को सौंपा गया है।
बीते साल के सर्वेक्षण के लिए चौबीस घंटे काम करने वाला कंट्रोल रूम स्थापित किया गया था और सर्वेक्षण की प्रगति की निगरानी के लिए फोटो को जिओ-टैग किया गया था। कर्मचारियों से उनके वेतन और अन्य सुविधाओं के बारे में भी पूछा गया था। साथ ही ट्रेन में यात्रा कर रहे लोगों से प्रतिक्रिया ली गई थी। उनसे स्टेशन परिसर और ट्रेन में स्वच्छता संबंधी करीब 40 तरह के सवाल पूछकर रेटिंग कराई जा रही है।
यहां होगी परख
स्वच्छता की प्रक्रिया के मूल्यांकन में पार्किंग, मुख्य प्रवेश क्षेत्र, प्रमुख प्लेटफॉर्म, प्रतीक्षालय, ओपन एरिया, शौचालय आदि क्षेत्रों का निरीक्षण किया गया। इसमें यात्रियों के सुझाव भी शामिल किए गए।
ट्रेनों की भी जारी रहेगी स्वच्छता रैंकिंग
रेलवे स्टेशनों की स्वच्छता रैंकिग की तर्ज पर इस बार क्यूसीआई स्टेशनों से संबंधित स्वच्छता सर्वेक्षण रिपोर्ट जुलाई में जारी की जाएगी। इस सर्वेक्षण में रेलवे स्टेशन परिसर में पार्किंग, प्रमुख द्वार, प्रमुख प्लेटफॉर्म, प्रतीक्षालय, ओपन एरिया, शौचालय, बैठने की व्यवस्था, पेयजल बूथ, प्रतीक्षालय, पटरी, फुट ओवरब्रिज, सफाई कर्मचारियों की वर्दी, सुरक्षात्मक उपाय, उपकरण की स्थिति को भी शामिल किया गया है।


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें