IPL कॉमेंट्री : शास्त्री और द्रविड़ को लेकर BCCI और CoA में टकराव!

अगले साल रविशास्त्री और राहुल द्रविड़ आईपीएल में कॉमेंट्री करते नजर आ सकते हैं लेकिन कहा जा रहा है कि इस बात बीसीसीआई और सीओए के बीच तनातनी हो गई है

प्रशासकों की समिति और बीसीसीआई के बीच टकराव कोई नई बात नहीं है. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली :  आईपीएल में भारतीय क्रिकेट दिग्गजों की कॉमेंट्री खास तौर पर पसंद की जाती है. bcci  की ओर से इस समय ipl प्लेऑफ के कॉमेंट्री पैनल में सुनील गावस्कर और संजय मांजरेकर के नाम ही रहे. लेकिन अगले साल दो नए खास नाम और आने की संभावना है जो इस समय राष्ट्रीय क्रिकेट बोर्ड के प्रमुख पदों पर मौजूद हैं. लेकिन ये दो नाम आते ही विवाद हो गया और बीसीसीआई और आमने सामने आ गए.

हाल ही में जारी एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय क्रिकेट दो प्रमुख कोच ravi और rahul को अगले साल आईपीएल कॉमेंट्री करने की इजाजत देने के मामले में बीसीसीआई और सीओए के बीच एक बार फिर टकराहट हो गया है. कहा जा रहा है कि अगर सब कुछ ठीक रहा तो अगले साल के आईपीएल में दर्शक इन दोनों दिग्गज को कॉमेंट्री करते देख सकते हैं. इस समय टीम इंडिया के लिए रवि शास्त्री मुख्य कोच और राहुल द्रविड़ अंडर 19 टीम के कोच हैं.

उल्लेखनीय है कि बीसीसीआई और सीओए के बीच टकराहट कोई नई बात नहीं हैं. पहले भी ऐसा कई बार हो चुका है कि किसी बात को लेकर दोनों आमने सामने हों. पिछले महीने ही टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली के अफगानिस्तान टेस्ट को छोड़कर काउंटी क्रिकेट को चुनने को लेकर भी दोनों में टकराव हुआ था.

इस मीडिया रिपोर्ट के अऩुसार सुप्रीम कोर्ट की ओर से नियुक्त की गई प्रशासकों की समिति (सीओए) इस नियम पर पुनर्विचार कर रही है जिसकी शास्त्री और द्रविड़ को कोच रहते आईपीएल में कॉमेंट्री करने की इजाजत नहीं है. रिपोर्ट के मुताबिक इस निर्णय से बीसीसीआई अधिकारी हैरत में है, उनका कहना है कि पहले भी ‘हितों का टकराव’ के नियम के तहत पहले दोनों ही कोच को दोहरी भूमिका नहीं दी गई थी क्योंकि दोनों ही राष्ट्रीय क्रिकेट बोर्ड के प्रमुख पदों पर हैं.


facebook - जनसम्पर्क
facebook - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
twitter - जनसम्पर्क
twitter - जनसम्पर्क - संयुक्त संचालक
जिला प्रशासन इंदौर और शासन की दैनंदिन गतिविधियों और अपडेट के लिए फ़ॉलो करें